सेक्टर अधिकारी आचार संहिता उल्लंघन के मामलों की सतत निगरानी करें- जिला निर्वाचन अधिकारी

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ, जिला नरसिंहपुर // अरुण श्रीवास्तव : 91316 56179

नरसिंहपुर. लोकसभा निर्वाचन- 2019 के अंतर्गत जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों के लिए नियुक्त सेक्टर अधिकारियों को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बुधवार को प्रशिक्षण दिया गया। सेक्टर अधिकारियों को मतदान प्रक्रिया, ईवीएम/ वीवीपैट, एएमएफ, संवेदनशील मतदान केन्द्र और मतदाता जागरूकता अभियान के सुचारू संचालन के संबंध में प्रशिक्षण दिया गया।

इस दौरान कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी दीपक सक्सेना ने कहा कि सेक्टर अधिकारी अपने सेक्टर का लगातार भ्रमण करें। निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। समय सीमा का कड़ाई से पालन करें। भ्रमण के दौरान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों की सतत निगरानी करें। कुछ भी गलत दिखे, तो इसकी शिकायत सी- विजिल एप या टोल फ्री नम्बर 1950 पर करें।

       कलेक्टर ने कहा कि सेक्टर अधिकारी मतदान केन्द्रों पर एएमएफ (एश्योर्ड मिनीमम फेसेलिटी)- न्यूनतम उपलब्ध सुविधाओं की सुनिश्चितता से संबंधित व्यवस्था देख लें। आयोग के निर्देशानुसार प्रत्येक मतदान केन्द्र पर रैम्प, पेयजल की समुचित उपलब्धता, पर्याप्त फर्नीचर, मेडिकल किट, समुचित विद्युत और प्रकाश, सहायता बूथ, उचित संकेतक, महिला- पुरूष शौचालय, छायादार स्थान, वालेन्टियर्स, वालेंटियर्स के लिए भोजन, बच्चों के लिए क्रेच/ झूलना घर, दिव्यांग मतदाताओं के परिवहन, कतार एवं मतदाता सुविधा पोस्टर के प्रदर्शन से संबंधित सभी व्यवस्थायें पुख्ता रहें। मतदान के समय मतदाता के पास निर्धारित 12 दस्तावेजों में से कोई एक अनिवार्य रूप से रहना चाहिये। सी- विजिल एप, टोल फ्री नम्बर 1950 और वोटर हेल्पलाइन एप के बारे में जागरूकता बढ़ाई जावे। इस संबंध में व्यापक प्रचार- प्रसार किया जावे। बीएलओ को वोटर हेल्पलाइन डाउनलोड कराकर इसके बारे में सिखाया जावे।

       कलेक्टर ने कहा कि सेक्टर अधिकारी ईवीएम कमिशनिंग, माकपोल और सीलिंग के बारे में सजग रहें। माकपोल का प्रमाण पत्र तैयार कराया जाना है। निर्वाचन कत्र्तव्य प्रमाण पत्र- ईडीसी के उपयोग के बारे में पीठासीन अधिकारी को जानकारी होना चाहिये। यह सुनिश्चित किया जावे कि मतदान के समय पोलिंग एजेंट मतदान अधिकारी क्रमांक- एक एवं दो (पी- 1 व पी- 2) के पीछे बैठें।

       राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर प्राध्यापक डॉ. सीएस राजहंस ने सेक्टर अधिकारियों को विस्तार से निर्वाचन संबंधी प्रशिक्षण दिया। उन्होंने सेक्टर अधिकारियों के दायित्व, मतदान केन्द्रों से संबंधित व्यवस्थाओं, आदर्श आचार संहिता की निगरानी, पहुंच मार्गों और मानचित्र की तैयारी, मतदान केन्द्रों पर न्यूनतम उपलब्ध सुविधाओं की सुनिश्चितता, मतदाता जागरूकता के पोस्टर्स, सी- विजिल, टोल फ्री नम्बर 1950, वोटर हेल्पलाइन एप, मतदान के लिए मान्य 12 पहचान दस्तावेज, प्रेरक संदेश, मतदाता जागरूकता अभियान, निर्वाचन अभियान में सोशल मीडिया, वल्नरेविलिटी मैपिंग, मतदान के पूर्व, मतदान दिवस, मतदान के पश्चात की जाने वाली कार्रवाई, माकपोल, ईवीएम, निर्वाचन अपराध आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *