अमेरिका ने आतंकी मसूद अज़हर को प्रतिबंधित सूची में डालने के लिए एक और प्रस्ताव पेश किया

Spread the love

पाकिस्तान में मौज़ूद आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के सरगना मसूद अज़हर को संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंधित सूची में डालने का मामला ठंडा नहीं पड़ा है. ख़बरों के मुताबिक अमेरिका ने फिर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस बाबत एक प्रस्ताव पेश किया है. इससे अमेरिका और चीन के बीच टकराव की स्थिति बनने की संभावना भी जताई जा रही है.

मसूद अज़हर से संबंधित अमेरिकी प्रस्ताव को फ्रांस और ब्रिटेन का भी सक्रिय समर्थन हासिल है. यह प्रस्ताव बुधवार को पेश किया गया है. इस पर मतदान कब होगा, इस बारे में अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है. यह भी साफ नहीं है कि इस प्रस्ताव पर अबकी बार चीन का रुख़ क्या होगा.

ग़ौरतलब है कि अभी लगभग दो सप्ताह पहले फ्रांस की अगुवाई में अमेरिका और ब्रिटेन के सक्रिय समर्थन से इसी तरह का प्रस्ताव संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में पेश किया गया था. लेकिन चीन ने सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य के तौर पर मिले वीटो (निषेधाधिकार) का इस्तेमाल करते हुए उस प्रस्ताव को अटका दिया था. उसने चौथी बार इस प्रस्ताव को अटकाया था.

याद रखने की बात ये भी है कि इसी 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय आरक्षित पुलिस बल के काफ़िले पर आत्मघाती आतंकी हमला हुआ था. इस हमले में 42 जवान मारे गए थे. इसकी ज़िम्मेदारी जेईएम ने ली थी. तब से ही मसूद अज़हर को वैश्विक आतंकियों की सूची में शामिल करने के प्रयासाें में तेजी आई है. बल्कि फ्रांस तो अपने स्तर पर मसूद अज़हर को प्रतिबंधित आतंकी घोषित कर ही चुका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *