महिला बंदियों को दिया योग के माध्यम से समर्थ बनने का मंत्र

Spread the love

होशंगाबाद | जिला विधिक सेवा प्राधिकरण होशंगाबाद द्वारा महिला बंदियों एवं उनके साथ रह रहे बच्चों के लिए विशेष विधिक सेवा अभियान के अंतर्गत योग प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में महिला बंदियों को बताया गया कि मनुष्य में 3 प्रवृत्ति सत-रज-तम होती है। हमें अपने अंदर सत की प्रवृत्ति बनाए रखना चाहिए तथा तम की प्रवृत्ति को बढने नहीं देना चाहिए क्योंकि यही प्रवृत्ति अपराध करने की ओर ले जाती है।

उल्लेखनीय है कि विशेष विधिक सेवा अभियान जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री एसकेपी कुलकर्णी के मार्गदर्शन एवं सचिव श्री दिनेश प्रसाद मिश्र के निर्देशन में संचालित किया जा रहा है जिसमें महिलाओं को समर्थ बनने के साथ-साथ अपने मानसिक तनाव को योग के माध्यम से दूर करने का मंत्र भी दिया जा रहा है। साथ ही उन्हें विधिक सहायता के बारे में भी बताया जाएगा।

इस अभियान के तहत  उनके प्रकरणो के बारे में समीक्षा भी की जाएगी एवं विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रम तथा शासन की विभिन्न योजनाओं के बारे में भी बताया जाएगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *