माखनलाल यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलपति बी के कुठियाला समेत 20 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

भोपाल // विनय जी. डेविड : 9893221036 

भोपाल के माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय में अनियमितता का मामला सामने आया है। जहां पूर्व कुलपति बीके कुठियाला समेत 20 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। आपको बता दें रजिस्ट्रार ने अनियमितता को लेकर कार्रवाई की सिफारिश की थी, जिसके बाद तीन सदस्यीय जांच समिति की रिपोर्ट पर कार्रवाई की गई है। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बी के कुठियाला समेत 20 प्रोफ़ेसरों और शिक्षकों के ख़िलाफ़ 420 और भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किए गए हैं.

एफआईआर के मुताबिक़ पूर्व कुलपति बी के कुठियाला पर आरोप है कि उन्होंने यूजीसी के नियमों को ताक पर रखकर अपने आठ साल के (2010-18) कार्यकाल में विश्वविद्यालय में नियमों के ख़िलाफ़ नियुक्तियां की. साथ ही संघ से जुड़े संगठनों को नियमों के ख़िलाफ़ आर्थिक मदद पहुंचाई जिससे विश्वविद्यालय को आर्थिक हानि हुई. 19 शिक्षकों पर ग़लत ग़लत तरीक़े से नियुक्ति होने के मामले में कार्रवाई हुई है.

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बी के कुठियाला समेत 20 प्रोफ़ेसरों और शिक्षकों के ख़िलाफ़ 420 और भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

इससे पहले ईओडब्ल्यू के महानिदेशक के. एन. तिवारी ने कहा था, “विश्वविद्यालय की ओर से नियुक्तियों से लेकर व अन्य मामलों की शिकायत उनके पास आई है. इस शिकायत का परीक्षण कराया जा रहा है. उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।”

बता दें कि राज्य में कमलनाथ के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार के सत्ता में आने के बाद सरकार ने विश्वविद्यालय की पूर्व की गतिविधियों की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति बनाई थी. इस समिति ने बड़े खुलासे किए थे. समिति की जांच रिपोर्ट के आधार पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने ईओडब्ल्यू में शिकायत की है.

दरअसल विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार दीपेंद्र सिंह बघेल ने ईओडब्ल्यू को चिट्ठी लिखकर पूर्व कुलपति बीके कुलपति बीके कुठियाला के कार्यकाल में हुई नियुक्ती में गड़बड़ी को लेकर कुठियाला और नियम विरुद्ध तरीके से हुई भर्तियों पर एफआईआर दर्ज करने को कहा था।

माखन लाल विश्वविद्यालय के कुल 20 लोगों पर हुआ मामला दर्ज

2003 से 2018 तक की नियुक्तियों और वित्तीय गड़बड़ियों को लेकर चल रही थी जाँच..
डॉक्टर ब्रज किशोर कठीयया
डॉक्टर अनुराग सिठा
डॉक्टर पी शशि कल
डॉक्टर पवित्रा श्रीवास्तव
डॉक्टर अरुण कुमार भगत
डॉक्टर रजनी नागपाल
डॉक्टर संजय द्विवेदी
डॉक्टर अनुराग बाजपेयी
डॉक्टर कंचन भाटिया
डॉक्टर मनोज कछारिया
डॉक्टर आरती सारंग
डॉक्टर रंजन सिंह
डॉक्टर सुरेन्द्र पोल
डॉक्टर सौरभ मालवीय
डॉक्टर सूर्य प्रकाश
डॉक्टर प्रदीप डहेरिया
डॉक्टर सतेंद्र डहेरिया
डॉक्टर गजेंद्र सिंह
डॉक्टर कपिल राज
डॉक्टर मोनिका वर्मा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *