दरअसल मथुरा में चुनाव प्रचार के दौरान हेमा मालिनी एक ट्रैक्टर पर अचानक चढ़ गई और कुछ समय के लिए उस पर बैठ गई। लेकिन ट्रैक्टर के दौरान उनकी तस्वीर वायरल हो गई और कुछ लोगों का कहना था कि वह जिस ट्रैक्टर पर बैठी थी उसके बगल में एसी लगा हुआ है। जब एसी लगने की खबर सोशल मीडिया पर जोर पकड़ने लगी तो लोग तरह तरह के कमेंट करने लगे परंतु उसकी सच्चाई कुछ और ही थी।

Third party image reference

आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर लोग ट्रैक्टर पर लगे ड्रमों को एसी समझ रहे हैं, जबकि उनकी असलियत कुछ और है। आपको बता दें कि वास्तव में यह ड्रम एसी नहीं है बल्कि किसानों द्वारा अपने ट्रैक्टरों का मनोरंजन करने और उन पर गाने सुनने के लिए स्पीकर का उपयोग किया जाता है।

Third party image reference

इससे पहले जब वह खेत में गेहूं कटाई के लिए गई थी तब गांव की महिलाओं ने भी उन्हें काफी भला-बुरा कहा था। उनका कहना था कि हेमा मालिनी किसानों का एवं गरीबों का मजाक उड़ा रही है जबकि एक रैली के दौरान कार्यकर्ता एवं जनता उनके स्वागत के लिए धूप में खड़ी थी परंतु हेमा मालिनी ने अपने वाहन से नीचे तक नहीं उतरी और उन्होंने वाहन के अंदर से ही भाषण को देना चालू कर दिया। इस बात से भी लोगों ने उन्हें काफी ट्रोल किया था।