निर्भया के कातिलों को अब तक नहीं दी गई फांसी, निराश माता-पिता ने उठाया यह कदम

Spread the love

नई दिल्ली । देश के बहुचर्चित निर्भया हत्या कांड में दिल्ली के वसंत विहार सामूहिक दुष्कर्म मामले के दोषियों को अदालत द्वारा दी गई फांसी की सजा पर अमल नहीं होने के कारण पीड़िता के माता-पिता ने अत्यंत दुखी होकर मतदान नहीं करने का फैसला किया है।

उन्होने कहा कि पूरे देश को हिला देने वाले इस सामूहिक दुष्कर्म मामले के बाद से केंद्र में दो अलग-अलग दलों की सरकारें आईं, लेकिन दोषियों को सजा नहीं मिली सकी है इसलिए अब ऐसे में किस पर भरोसा करें? किसे अपना वोट दें? बड़े भारी मन से हमने यह फैसला किया है कि हम इस बार मतदान नहीं करेंगे। नोटा के बारे में पीड़िता के पिता बताते हैं कि आप चाहे नोटा का बटन दबाएं या मतदान नहीं करें, दोनों एक ही बात है।

वहीं मां का कहना है कि वसंत विहार मामले के तत्काल बाद देश में महिला सुरक्षा को सभी राजनीतिक दलों की ओर से एक अहम मुद्दा करार दिया गया था। देश की जनता सड़कों पर उतर आई थी। ऐसा लग रहा था कि सरकार अब महिला सुरक्षा को लेकर गंभीर है, परंतु हकीकत यह है कि दोषियों को फांसी की सजा पर अमल अभी तक नहीं हुआ सका है।

उन्होने बताया कि नेताओं से लेकर अधिकारियों तक सभी के कार्यालय में वह कई चक्कर लगा चुके है परंतु दोषियों फांसी पर नहीं लटकाया गया है। इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए सूचना के अधिकार (RTI) का भी सहारा लिया, लेकिन हल कुछ नहीं निकल सका इसलिए वे पूरी व्यवस्था से नाराज हैं।

निर्भया की मां ने अपना दुख व्यक्त करते हुए कहा कि आज भी देश में महिलाओं के साथ लगातार दुष्कर्म हो रहे हैं। महिलाएं खुद को पूरी तरह असुरक्षित महसूस करती हैं। इसकी एक बड़ी वजह अपराधियों की सोच है। वे सोचते हैं कि वे चाहे कुछ भी करें, उन्हें कुछ नहीं होगा। कुछ दिन जेल में रहकर वे बाहर आ जाएंगे। ऐसी स्थिति देखकर यह नहीं लगता है कि दोषियों को फांसी के तख्ते पर कभी ले जाया जा सकेगा। अगर सरकारें इस मुद्दे पर गंभीर होतीं तो दोषियों को फांसी पर लटका दिया गया होता।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *