हाथियों का आतंक रुका नहीं अब भालूओं ने आतंक मचाया, घायल बुजुर्ग दम तोड़ा, इस क्षेत्र में है इनका आतंक

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

रायगढ़. जिला के धरमजयगढ़ वनमंडल अंतर्गत क्षेत्र में हाँथी का आतंक रुका भी नहीं की अब भालू का आतंक देखा जा रहा है छाल वनपरिक्षेत्र के बंगरसुता जंगल में तेंदूपत्ता तोड़ने गए बुजुर्ग पर भालू ने हमला कर दिया, घायल बुजुर्ग उपचार के लिए अस्पताल नहीं पहुँच सका और उसने दम तोड़ दिया.

धरमजयगढ़ वन मंडल के छाल वनपरिक्षेत्र अंतर्गत बंगरसुता जंगल में 55 वर्षीय वृद्ध ठाकुर दास तेंदूपत्ता तोड़ने गया था तभी अचानक भालू उस पर हमला कर दिया, तभी वहाँ मौजूद कुछ ग्रामीणों द्वारा शोर करके भालू को वहाँ से भगाया, लेकिन भालू हमले से वृद्ध गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे 108 के माध्यम से इलाज के लिए रायगढ़ ले जाया गया पर अस्पताल पहुँचने से पहले रास्ते में ही घायल ठाकुर दास ने दम तोड़ दिया ।

लिहाजा वन विभाग मृतक के परिजनों को शासन से मिलने वाली जनहानि मुआवजा राशि का प्रकरण तैयार कर और आगे की कार्यवाई कर रही है ।

भालू के हमले से मौके पर घायल ग्रामीण जिसकी अस्पताल लाते रास्ते मे हुई मौत

आपको बता दे बमुश्किल सप्ताह भर के भीतर धरमजयगढ़ वन मंडल क्षेत्र में दो दिन में 3 लोगों की हाँथी कुचलने से मौत हो गई थी और ये  तीनो मौत जंगल में तेंदूपत्ता तोड़ने के दौरान हुआ था भयंकर इस हादसे के बाद से धरमजयगढ़ वन विभाग के आलाधिकारियों द्वारा यह निर्णय लेने का फैसला लिया गया था कि हाँथी प्रवाहित क्षेत्र में तेंदूपत्ता नहीं तोड़े जाएंगे लेकिन देखा जा रहा है.

तेंदूपत्ता तोड़ना अब भी जारी है बता दें अभी हालही में गुरूवार को जमरगी डी गाँव में तेंदूपत्ता तोड़ने के दौरान एक युवक पर भालू हमला कर दिया था जिसका उपचार अभी भी धरमजयगढ़ सिविल अस्पताल में जारी है। इन सारे हादसों की वजह तेंदूपत्ता तोड़ना ही आ रहा है फिर भी तेंदूपत्ता संग्रहण जारी है जबकि धरमजयगढ़ और छाल रेंज के, तरेकेला, बंगरसुता, कुड़ेकेला और ओंगना क्षेत्र के जंगल में अभी भी हाँथी मौजूद है जो सीधे तौर पे ग्रामीणों के जीवन के लिए खतरे की घंटी है । ।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *