उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने एग्जिट पोल पर उठाए सवाल, कहा-बीस साल से गलत साबित हो रहे हैं

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

लोकसभा चुनाव खत्म हो गए. नतीजे 23 मई को आएंगे लेकिन समाचार चैनलों पर खेल जारी है. सारे चैनल एग्जिट पोल-एग्जिट पोल खेल रहे हैं. नतीजे क्या आएंगे लेकिन इसे लेकर सोशल मीडिया पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं. एग्जिट पोल भी ऐसे कि कोई तोला है तो कोई माशा. इसलिए इसकी विश्वसनीयत पर सोशल मीडिया पर मजाक भी उड़ाए जा रहे हैं.

यों लगभग सभी चैनलों के एग्जिट पोल में एनडीए की सरकार बनती दिख रही है. चैनलों के एग्जिट पोल के मुताबिक, नरेंद्र मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे. लेकिन एग्जिट पोल के खेल के बीच ही उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू के बयान ने सबकों चौंका दिया. नायडू ने एग्जिट पोल के बारे में कहा कि ये वास्तविक परिणाम नहीं हैं.

उपराष्ट्रपति ने कहा कि एक्जिट पोल वास्तविक परिणाम नहीं होते. हमें यह समझना चाहिए कि 1999 से अधिकतर एक्जिट पोल गलत साबित हुए हैं. नायडू ने गुंटुर में शुभचिंतकों को अनौपचारिक बैठक में संबोधित किया. मौजूदा आम चुनाव का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि हर पार्टी (अपनी जीत के बारे में) आश्वस्त रहती है.

उन्होंने कहा के नतीजों तक हर कोई अपने आत्मविश्वास का प्रदर्शन करता है. इसका कोई आधार नहीं होता. इसलिए हमें 23 तक इंतजार करना चाहिए. नायडू ने कहा कि देश और राज्य को एक कुशल नेता और स्थिर सरकार की जरूरत होती है, चाहे जो हो. बस इतना ही. उपराष्ट्रपति ने कहा कि समाज में बदलाव राजनीतिक दलों में बदलाव के साथ होना चाहिए.

उपराष्ट्रपति के बयान के सियासी मतलब भी निकाले जा रहे हैं लेकिन इस बीच अभिनेता प्रकाश राज ने चैनलों के एग्जिट पोल को सिरे से खारिज कर दिया है और इस संबंध में एक ट्वीट किया. प्रकाश राज का यह ट्वीट वायरल भी खूब हो रहा है और लोग उनके ट्वीट पर जमकर मजे भी ले रहें हैं. प्रकाश राज ने लिखा कि एग्जिट पोल के साथ, दिन में सपने देखने दो, बुरा सपना वापस आएगा. लेकिन 23 मई को.

मुझे विश्वास है कि लोग इसे गलत साबित करेंगे. तब तक गाओ और खुशी मनाओ, जो हमें बापू जी ने सिखाया है. प्रकाश राज ने इस तरह ट्वीट कर तमाम चैनलों के एग्जिट पोल को गलत बताया है. प्रकाश राज अपनी सटीक टिप्पणी के लिए जाने जाते हैं. वे अक्सर मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए देखे जाते हैं. 

(राजनीतिक-सामाजिक मुद्दों पर सटीक विश्लेशण के लिए पढ़ें और फॉलो करें).


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *