दुल्हन अपहरण कांड में दुल्हन व उसके प्रेमी के पकड़े जाने के बाद कई चौंकाने वाले खुलासे

Spread the love

उदयपुर। राजस्थान के बहुचर्चित उदयपुर दुल्हन अपहरण कांड में दुल्हन व उसके प्रेमी के पकड़े जाने के बाद कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। दुल्हन को नारी निकेतन भेज दिया गया है जबकि प्रेमी व उसके साथियों से पुलिस पूछताछ में जुटी है। राजस्थान में सीकर दुल्हन अपहरण केस के 20 दिन बाद ठीक उसी प्रकार से उदयपुर में भी विदाई के बाद दूल्हे के साथ कार में सवार होकर ससुराल जा रही दुल्हन का अपहरण देशभर में सुर्खियों में रहा।

मंगलवार तड़के करीब 4 बजे उदयपुर के सीवान रेलवे स्टेशन के पास से दुल्हन विनिता का उसके प्रेमी प्रियांक ने अपहरण कर लिया था। इस दौरान प्रियांक व उसके साथियों ने दूल्हे से भी मारपीट व गाड़ी में तोड़फोड़ की। फिर दुल्हन को लेकर फरार हो गए थे। उदयपुर पुलिस ने दुल्हन, प्रेमी व उसके सा​थियों को 21 घंटे बाद देर रात करीब 3 बजे जयपुर से दस्तयाब कर बुधवार दोपहर को उदयपुर लाई।

 

परिजनों से पहले दूल्हे से मिली

दुल्हन को उदयपुर लाए जाने के बाद उसने सबसे पहले दूल्हे क्षितिज से मिलने की ख्वाहिश जताई और उसके सिर पर अपहरण के दौरान लगी चोट देखकर वह भावुक हो गई। फिर दूल्हे के गले लिपटकर फूट-फूटकर रोई। उससे काफी देर तक बातें भी की। शुरुआती पूछताछ में दुल्हन ने दूल्हे के साथ जाने की ही इच्छा जताई है।

खुद दुल्हन ही दे रही प्रेमी को जानकारी

उदयपुर पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि दुल्हन विनिता ( Udaipur Dulhan Vinita ) अपनी शादी से खुशी नहीं थी। वह खुद ही प्रेमी प्रियांक को शादी की पल-पल की जानकारी दे रही थी। दोनों पहले ही भागने का प्लान बना चुके थे। विदाई के बाद उल्टी के बहाने कार रुकवाने की योजना थी, मगर वे एक देवरे पर नारियल चढ़ाने के लिए रुके तो पीछा कर रहे प्रियांक व उसके दोस्त दुल्हन को भगा ले गए।

दो महीने पहले भी था भागने का प्लान

उदयपुर दुल्हन अपहरण के बाद विनिता का परिजनों के नाम लिखा एक पत्र वायरल हुआ है, जो उसने दो माह पहले उस समय लिखा था जब विनिता और प्रेमी प्रियांक भागकर शादी करने का प्लान बना रहे थे, लेकिन भाई की शादी होने के कारण भाग नहीं सके। दोनों के बीच आठ-दस साल से प्रेम प्रसंग  ( Udaipur Vinita & Priyank Love Story ) चल रहा था, जिनकी जानकारी उसके परिजनों को भी थी। पत्र में विनिता ने अपने माता-पिता से माफी मांगते हुए अपने प्रेम प्रसंग की जानकारी देते हुए लिखा था कि वह प्रियांक के साथ खुश रहेगी। उसने कभी उसकी आंख में आंसू नहीं आने दिए।

उदयपुर दुल्हन अपहरण केस में ये गिरफ्तार

एसपी कैलाशचन्द्र विश्नोई ने बताया कि दुल्हन के अपहरण मामले में मुख्य आरोपी सूर्यानगर तितरड़ी निवासी प्रियांक पुत्र भागचंद जीनगर उसके साथी धोल की पाटी सविना निवासी पुनित पुत्र प्यारेलाल नागदा, सविना निवासी हरीश पुत्र प्रेमजी पटेल, चटावटी राशमी विजय पुत्र रामसिंह राजपूत व उदयसिंह पुत्र शिवसिंह चौहान को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वारदात की योजना सोमवार रात को ही बनाई थी। कृषि मंडी के निकट दुल्हन की कार रुका और वे उसे अपनी कार में बैग सहित लेकर भाग निकले।

21 घंटे बाद सिंधी कैंप से पकड़े गए

अपहरण के बाद दुल्हन, प्रेमी व उसके साथियों ने गोर्वधन विलास जाकर मोबाइल बंद कर लिए। इसके बाद टोल नाका टालते हुए डबोक होकर कीर की चौकी पहुंचे, जहां से आकोला, भूपालसागर होकर कपासन गए। बाद में भीलवाड़ा पहुंचकर उन्होंने कपड़े बदले। रात को ट्रैवल्स बस से प्रियांक दुल्हन को लेकर जयपुर रवाना हो गया। तब तक पुलिस ने उसके साथियों को अलग-अलग पकड़ लिया था। पूछताछ में ट्रैवल्स बस से जयपुर जाने की सूचना पर पुलिस ने बस का पीछा किया। जयपुर पुलिस की मदद से सिंधी कैम्प पर बस से उतरते ही पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *