आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक समेत चार नेताओं के अनिश्चितकालीन अनशन

Spread the love
  • *किसानों के 1 जून से 10 जून के गांव बंद कार्यक्रम को पूर्ण समर्थन : आलोक अग्रवाल*
  • *आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक समेत चार नेताओं के अनिश्चितकालीन अनशन*
  • *कहा- किसी कीमत पर नहीं तोड़ेंगे अनशन, हर मुश्किल को झेलने के लिए तैयार आम आदमी पार्टी*

भोपाल. आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने शाहजहानी पार्क में अनिश्चितकालीन अनशन के तीसरे दिन किसान संगठनों के गांव बंद कार्यक्रम का समर्थन किया है। उन्होंने अनशन स्थल पर मौजूद हजारों कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह गांव बंद कार्यक्रम किसानों की अपनी ताकत दिखाने का जरिया है। आम आदमी पार्टी के सभी कार्यकर्ता इस शांतिपूर्ण तरीके के जरिये किसानों के साथ अपनी एकता प्रदर्शित करते हुए गांव बंद कार्यक्रम को पूरी तरह से सफल बनाएंगे।

उन्होंने कहा कि प्रशासन ने हमसे बात की और कहा कि हमारे पास अनशन की अनुमति नहीं है। हम कहना चाहते हैं कि क्या हमें शांतिपूर्ण अनशन का संवैधानिक अधिकार भी नहीं है। दूसरे अनशन भी हो रहे हैं। इस सरकार को अनशन की मांगों पर ध्यान देना चाहिए और मांगों को पूरा करना चाहिए। लेकिन सरकार ऐसा नहीं कर अनशन तोडऩे की कोशिश करती है, तो आम आदमी पार्टी का कहना है कि हम शांतिपूर्ण अनशन कर रहे हैं और यह अनशन हमारी मांगें पूरी होने तक जारी करेगा। हम किसी भी कीमत पर अपने संवैधानिक अधिकार को नहीं तोडऩे देंगे। अगर प्रशासन और सरकार हमें जेल में डालकर इस अनशन को तोडऩा चाहता है तो हम इसके लिए भी तैयार हैं। इस लड़ाई में जो कुछ भी झेलना पड़े उसे झेलने के लिए आम आदमी पार्टी का हर एक कार्यकर्ता तैयार है।

उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि सरकारी अधिकारी ने सूचित किया कि हमें अनशन करने की अनुमति नहीं है। हमने बताया कि संविधान के अनुच्छेद 19 में हमें यह अधिकार है, गांधीजी ने 17 बार अनशन किया। किसानों की, आम आदमी के हक की लड़ाई के लिये सरकारी अनुमाति की आवश्यकता नहीं। आपकी पुलिस करवाई का शांति से सामना करेंगे।

उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह सरकार उद्योगपतियों के कर्ज को माफ करने में कोई देर नहीं करती है, लेकिन किसानों के महज 40 हजार करोड़ के कर्ज को माफ नहीं करना चाहती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश का बजट 2 लाख करोड़ से ज्यादा का है। इसमें से आधा पैसा यानी करीब 1 लाख करोड़ रुपए भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। अगर शिवराज सरकार चाहे तो बस एक साल के लिए भ्रष्टाचार न करके भी किसानों के कर्ज को माफ कर सकती है।

उन्होंने कहा कि आज सरकार को लगता है कि किसानों की कोई कीमत नहीं है। हम उन्हें इस कीमत का अहसास कराएंगे। किसान संगठनों के गांव बंद कार्यक्रम को समर्थन देकर आम आदमी पार्टी इसमें सक्रिय भागीदारी करेगी। इसमें हम अपना सामान बाहर लेकर नहीं जाएंगे, बस जिसे हमारा सामान लेना है, वह गांव में आए।

अनशन के तीसरे दिन सिंगरौली, रीवा, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, डिंडोरी, मंडला, उज्जैन, नीमच, मंदसौर, आगर-मालवा समेत अन्य जिलों से आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता आए। अनशन में प्रदेश भर से कार्यकर्ता, किसान और युवाओं के आने का सिलसिला जारी है। साथ ही कई संगठनों के लोग भी लगातार अनशन स्थल पर आकर समर्थन दे रहे हैं।

अनशन को प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल के अलावा प्रदेश संगठन मंत्री पंकज सिंह, प्रदेश संगठन सचिन मुकेश जायसवाल, उज्जैन जोन के सचिव इंद्र विक्रम सिंह, प्रदेश सचिव दुष्यंत दांगी समेत अन्य पदाधिकारियों ने संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *