जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक : तेज गति एवं शराब पीकर वाहन चलाने वाले चालकों का होगा लायसेंस निरस्तीकरण – कलेक्टर

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

रायगढ़, कलेक्टर श्री यशवंत कुमार ने आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक ली। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक श्री राजेश अग्रवाल, अपर कलेक्टर श्री सुखनाथ अहिरवार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक वर्मा, नगर निगम आयुक्त श्री रमेश जायसवाल, परिवहन अधिकारी श्री एस.एस.कौशल, एसडीएम, पुलिस विभाग, टे्रफिक विभाग, पी.डब्लयू.डी. विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि चिन्हांकित जगह जहां पर दुर्घटनाएं ज्यादा हो रही है, उन स्थानों पर डबल गति अवरोधक बनाने के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा कि शराब पीकर एवं तेज गति से वाहन चलाने वाले वाहन चालकों पर लायसेंस निरस्तरीकरण की कार्यवाही करें। साथ ही सड़कों पर यातायात व्यवस्था को अवरोध करने वाले आवारा पशुओं को भी व्यवस्थित करने के निर्देश नगर निगम आयुक्त को दिए है।

उन्होंने स्कूल, कालेजों में विद्यार्थियों के लिए यातायात सुरक्षा के संबंध में जनजागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के लिए कहा है, ताकि विद्यार्थी यातायात से संबंधी जरूरी जानकारी से परिचित हो सके। उन्होंने पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारी को सड़कों पर बने गड्ढों को सुदृढ़ीकरण करने के लिए कहा है। कलेक्टर ने नगर निगम आयुक्त को छातामुड़ा बाईपास के पास अवैध बने गैरेजों को नोटिस देकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए है।

बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री राजेश अग्रवाल ने बताया कि तमनार रोड, आमाघाट, आमाघाट, कटंगपाली, कंचनपुर जर्जर रोड को सुदृढ़ीकरण की आवश्यकता बतायी। उन्होंने कहा कि इन जगहों पर रोड की सुदृढ़ीकरण हो जाने से दुर्घटना की संभावनाएं कम हो जाएगी। साथ ही पार्किंग व्यवस्था के बारे में भी चर्चा की गई। पुलिस अधीक्षक ने पार्किंग व्यवस्था का चिन्हांकन करके वाहनों को व्यवस्थित करने के लिए भी दिशा-निर्देश दिए।

बैठक में चिन्हांकित ब्लैक स्पाट पर सुधार, नवीन चिन्हित ब्लैक स्पाट पर चर्चा, शहरी में पार्किंग स्थल, डिवाईडर बंद करने के संबंध में चर्चा, शहर में सिग्नल लाईट ढिमरापुर चौक, शहीद चौक, सत्तीगुड़ी चौक में लगाने की व्यवस्था के बारे में अवगत कराया गया। अतिक्रमण हटाने, राष्ट्रीय राजमार्गो पर वाहनों की चेकिग की कार्यवाही, यातायात व्यवस्था के संबंध में जनजागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने, सड़क दुर्घटना में पीडि़त व्यक्तियों के लिए आपातकालीन चिकित्सा सुविधा के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *