घरघोड़ा में हुए अंधे कत्ल का खुलासा : नवविवाहिता की हत्या के मामले में मृतिका का पिता व चचेरा भाई गिरफ्तार

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • क्षणिक आवेश में घुस्सैल पिता ने पत्थर से गर्दन में चोट पहुंचाने के बाद नाक, मुंह दबाकर की हत्या
  • हत्या बाद भतीजा के साथ शव को फंदे पर लटकाकर दिये आत्महत्या का स्वरूप
  • थाना घरघोडा अन्तर्गत ग्राम घरघोड़ी में नवविवाहिता के हत्या के मामले में घरघोड़ा पुलिस द्वारा मृतिका के पिता व चचेरे भाई को गिरफ्तार किया गया है ।

रायगढ़. थाना घरघोड़ा में थाना के मर्ग क्र. 46/19 धारा 174 जा.फौ. के मृतिका जानकी उरांव पति कन्हैया उरांव उम्र 22 वर्ष सा. तराईमाल थाना पूंजीपथरा के मर्ग जांच पी.एम. रिपोर्ट पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अप.क्र. 128/19 धारा 302,201 भादंवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था ।

मृतिका के मृत्यु के संबंध में दिनांक 30/06/19 के सुबह थाना घरघोड़ा में मृतिका के पिता *सुन्दर उरांव पिता स्वं मंगलू उरांव उम्र 45 वर्ष* निवासी घरघोडी द्वारा अपराध से बचने और पुलिस को गुमराह करने के उद्देश्य से मर्ग इंटीमेंशन दर्ज कराया कि इसकी लडकी *जानकी उरांव* दिनांक 29/06/19 के शाम को घर आयी थी ,जिसका शव दिनांक 30/06/19 को सुबह गांव के मरघट के बर पेड डाल में फांसी पर लटका हुआ मिला । सुन्दर उरांव ने यह भी बताया कि मृतिका इसकी बेटी को उसका दमाद कन्हैया उरांव शराब पीकर मारपीट करता था । घारघोड़ा पुलिस ने पी.एम. रिपोर्ट प्राप्त कर ‍दिनांक 13.07.19 को अज्ञात आरोपी के विरूद्ध अप.क्र. 128/19 धारा 302,201 भादवि दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।

मामले की शुरूवाती जांच पूछताछ में मृतिका के वारीसान पुलिस को उलझाने के लिए हत्या का संदेह मृतिका के पति व ससुरालवालों पर व्यक्त किया जा रहा था । थाना प्रभारी घरघोड़ा निरीक्षक चमन सिन्हा व उनकी टीम द्वारा मामले की हर पहलुओं पर जांच की जा रही थी किन्तु सफलता से कुछ दूर थी ।

पुलिस अधीक्षक एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा भी मामले के विवेचक को मार्गदर्शन दिया जा रहा था तथा एस.डी.ओ.पी. धरमजयगढ़ भी प्रकरण को अपने सुपविजन में रखकर महत्वपूर्ण दिशा निर्देश थाना प्रभारी घरघोड़ा को दिये । इसी बीच घरघोड़ा टी.आई. श्री चमन सिन्हा को मृतिका के घर आसपास रहने वालों ने बताया कि जिस दिन मृतिका घर आयी थी उस रात्रि दोनों बाप-बेटी के बीच झगड़ा सुनायी दिया था । इस संबंध में जब घरघोड़ा पुलिस ने जब मृतिका के वारिशानों से पूछताछ किये तो वे मौन हो गये , जिसके बाद एक-एक कर सभी से पूछताछ किया गया तो घटना का खुलासा हुआ ।

मृतिका के पिता *सुन्दर उरांव* ने बताया कि दिनांक 29.06.19 को जानकी घर आयी थी रात में जानकी किसी और लडके के साथ मोबाईल पर बात कर रही थी जिसे मना किया तो नहीं मानी  और बोली कि इसी लड़के के साथ रहना चाहती हूं  जिस पर विवाद बढ़ा और दोनों में झगड़ा मारपीट हुआ तब पास पड़े तंबाकू पीसने वाले पत्थर से  जानकी के गर्दन में मारा और एक हाथ से उसका नाक व मुंह को दबा दिया था जिससे उसकी मृत्यु हो गई । उसके बाद अपने भतीजे *रोहित उरांव पिता पटलु उरांव उम्र 30 वर्ष* को बलाया और उसके साथ गांव के मरघर में जाकर मरघट में पड़े किसी शव के सुती कपडे से जानकी को पेड़ पेड़ में फांसी पर लटका दिये । आरोपियों के कबूलनामे के बाद दोनों को गिरफ्तार किया गया तथा प्रकरण में *धारा 34 भादंवि* जोडी गई है ।

 उक्त प्रकरण का खुलासा करने में थाना प्रभारी घरघोड़ा निरीक्षक चमन सिन्हा, उप निरीक्षक एडमोन खेस, आरक्षक उद्धव पटेल, दिल कुमार और महिला आरक्षक गायत्री यादव की सराहनीय भूमिका रही है ।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *