बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, कहा- अब कोई भी गोरी-गोरी कश्मीरी लड़कियों से कर सकता है शादी

Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

अपने विवादित बयानों को लेकर हमेशा मीडिया की सुर्खियों में रहने उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के खतौली से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक विक्रम सैनी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने आर्टिकल 370 पर मोदी सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए विवादित बयान दिया।

भाजपा विधायक विक्रम सैनी ने कहा कि देश के मुसलमानों को खुश होना चाहिए कि वे अब बिना किसी डर के ‘गोरी’ कश्मीरी लड़कियों से शादी कर सकते हैं।

यही नहीं उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी के कुंवारे नेता भी अब कश्मीर जाकर वहां प्लॉट खरीद सकते हैं और शादी कर सकते हैं। विक्रम सैनी के इस बयान का एक वीडियो भी सामने आया है, जो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

वीडियो में विक्रम सिंह यह कहते हुए नजर आ रहे हैं, कार्यकर्ता बहुत उत्सुक हैं और जो कुंवारे हैं, उनकी शादी वहीं करवा देंगे, कोई दिक्कत नहीं है। क्या दिक्कत है? पहले वहां महिलाओं पर कितना अत्याचार था। वहां की लड़की अगर किसी उत्तर प्रदेश के छोरे से शादी कर ले तो उसकी नागरिकता खत्म।

इसे भी पढ़ें :- OMG शादी की पहली रात द‍ुल्हन ने ससुराल‍ियों को ख‍िलाया हाथ का खाना, ये क्या हो गया

भारत की नागरिकता अलग और कश्मीर की नागरिकता अलग यानी के एक देश दो विधान कैसे होना चाहिए, अब ऐसा नहीं होगा। और जो मुस्लिम कार्यकर्ता हैं यहां पर, उनको खुशी मनानी चाहिए… शादी वहां करो ना… कश्मीरी गोरी लड़की से। खुशी मनानी चाहिए। पूरे, चाहे हिंदू, मुसलमान कोई भी हो। ये पूरे देश के लिए उत्सव का विषय है।

इसे भी पढ़ें :- स्कूली बच्चों एवं वार्ड वासियों को जान जोखिम में डालकर रपट्टा पार करने को मजबूर, नगर से टूट जाता है संपर्क

बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसले में जम्मू कश्मी पर बड़ा फैसला लिया। केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 को हटाते हुए जम्मू कश्मीर से एक राज्य का दर्जा भी वापस ले लिया है। अब वह एक केंद्र शासित प्रदेश है। इसे मुख्य तौर पर दो हिस्सों में बांटा गया है। पहला हिस्सा जम्मू कश्मीर और दूसरा लद्दाख। सरकार की तरफ से जारी पत्र के मुताबिक, जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश होगा लेकिन वहां पर विधानसभा होगी। वहीं लद्दाख भी केंद्र शासित होगा लेकिन वहां विधानसभा नहीं होगी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *