सगाई होने के बाद पुरानी गर्लफ्रेंड का रेप किया फिर गुप्तांगों पर एसिड डाल दिया

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

भोपाल। निशातपुरा पुलिस थाना क्षेत्र में नर्स की लव स्टोरी में ऐसा मोड़ आया कि नर्स अस्पताल में है और उसका बॉयफ्रेंड सलाखों के पीछे। मेल नर्स और फीमेल नर्स के बीच अफेयर था।

फीमेल नर्स शादीशुदा है। मेल नर्स की हाल ही में सगाई हुई। कुछ दिनों पहले मेल नर्स की मंगेतर को लवस्टोरी का पता चल गया। गुस्साए बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड फीमेल नर्स का पहले रेप किया और फिर उसके दोनों गुप्तांगों पर एसिड डाल दिया।

निशातपुरा पुलिस के मुताबिक 24 वर्षीय युवती स्टेशन बजरिया क्षेत्र में पति के साथ रहती है। युवती ने बुधवार रात थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई। उसमें बताया कि वह वर्तमान में करोंद स्थित एक निजी अस्पताल में नर्स का काम करती है। इसके पहले वह 5 फरवरी 2019 से मई 2019 तक एक दूसरे निजी अस्पताल में काम करती थी। तब उसका परिचय वहां मेल नर्स के रूप में काम करने वाले बलराम उर्फ वरुण धाकड़ से हो गया था।

उनके बीच नजदीकियां बढ़ गई थीं। इस वर्ष रंगपंचमी के दिन वरुण उसे अपने कमरे पर ले गया। वहां डरा-धमकाकर वरुण ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद बदनाम करने की धमकी देकर कई बार उसके साथ ज्यादती की। युवती ने बताया कि इस बीच वरुण की सगाई हो गई। लेकिन वरुण की होने वाली पत्नी को वरुण के अवैध संबंधों का पता चल गया। इसके बाद वरुण की मंगेतर के कहने पर उसने वरुण से दूरी बना ली लेकिन वरुण को शक हुआ कि युवती ने ही उसके संबंधों के बारे में उसकी मंगेतर को बताया है।

इस बात को लेकर 3 अगस्त को रात में युवती ड्यूटी पूरी कर अस्पताल से बाहर निकली। वहां उसे वरुण मिल गया। रात करीब 11 बजे वरुण उसे अपने कमरे पर ले गया। वहां डरा-धमकाकर वरुण ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद उसके सीने और कमर के नीचे एसिड जैसा कोई तरल पदार्थ डाल दिया। इससे उसकी त्वचा जल गई और संक्रमण फैल गया। बुधवार को युवती ने घटना के बारे में पति को बताया। इसके बाद थाने में शिकायत दर्ज कराई।

सीएसपी निशातपुरा लोकेश सिन्हा ने बताया कि घटना के बाद आरोपित वरुण विदिशा भाग गया था। थाने में शिकायत दर्ज होने की भनक लगते ही वह इंदौर में रहने वाले अपने एक रिश्तेदार के घर जाकर छिप गया था। उसे वहां से हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस यह पता लगा रही है कि वरुण ने कौन सा तरल पदार्थ इस्तेमाल किया था।

वैसे जब से सीएसपी निशातपुरा लोकेश सिन्हा बने है निशातपुरा पुलिस के ऊपर सदैव फर्जी कैश दर्ज करने और उसके पीछे वसूली करने के आरोप लगे है, लोकेश सिन्हा ने पुलिस को अपने छेत्र में अपनी पुलिस को दिल खोलकर लूटने और वसूली की अनुमति दे रखी है, निशातपुरा थाने में फर्जी केश दर्ज करने के भोपाल में सबसे अधिक आरोप लगे है.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *