लेन्सेक्स उद्योग से निकला पानी अमृत तो नही फिर क्यो है प्रसाशन मौन ?

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

  • उद्योग की मनमानी के आगे क्या झुकता रहेगा प्रसासन?

  • क्या अमृत बहा रहा है लेन्सेक्स उद्योग?

नागदा मे लगे उद्योगो द्वारा नालो के माध्यम से काले रंग का जहरीला पानी छोडा जा रहा है । जो मानव जाती पर दुषप्रभाव डाल रहा है। जो बरसात के मौसम मे छोडा जाता है जब चम्बल नदी उफान पर होती है।

नागदा मे स्थित उद्योगों मे लेन्सेक्स,केमिकल डिविजन एव गुलब्रांडसन जैसे उद्योग नालो के माध्यम से काला जहर रात के अन्धेरे मे छोड़ते है जो पास की ही जिवन दायनी नदी चम्बल मे जा कर मिलता है नदी लगातर जहरीले पानी से दुषित हो रही।

इसे भी पढ़ें :- स्वामी चिन्मयानंद का लड़की के साथ अय्याशी, मस्ती करते विडियो वॉयरल, देखें इनकी काली करतूत

वही वार्ड क्रमांक 35 मेहतवास के रहवासी इस जहरीले काले पानी से खासे परेसान भी है। लेन्सेक्स व आर्सियेल के उद्योगो से ये काला पानी लगातर नदियो मे मिलाया जा रहा है पर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड मौन साधे रहता है क्या कारण है यह कह पाना मुस्किल है।

इसे भी पढ़ें :- एडिशनल एसपी ट्राफिक ने बिना हेल्मेट वाहन चलाते पाये गये पुलिसकर्मियों के वाहनों को किया जप्त

जब इस काले पानी की शिकायत एएनआई न्यूज़ इंडिया  ने नगर पालिका सीएमओ सतीस मटसेनीया से की तो वे तत्काल मौके पर अपनी टीम के साथ पहुचे ओर उन्होने भी माना की उद्योगो के द्वारा काला पानी छोड़ा जा रहा है जिसमे से बदबू भी आ रही है। अब देखना यह है की क्या सी एम ओ उद्योग पर कोई कार्यवाही करते भी है या केवल खाना पूर्ति ही रह जायेगी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *