सिंहस्थ कुंभ घोटाला मामले में एफआईआर दर्ज; करोड़ों रुपयों का अतिरिक्त भुगतान

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

  • उज्जैन सिंहस्थ कुंभ घोटाला मामले में एफआईआर दर्ज
  • करोड़ों रुपयों का अतिरिक्त भुगतान करने के मिले सबूत

मध्य प्रदेश के उज्जैन में साल 2016 में हुए सिंहस्थ कुंभ मेले में शौचालय निर्माण और स्ट्रीट लाइट लगाने में हुए कथित घोटाले में राज्य की आर्थिक ईओडब्ल्यू के डीजी केएन तिवारी ने एफआईआर दर्ज करने की जानकारी दी. इस घोटालों में कई करोड़ों रुपयों का अतिरिक्त भुगतान किए जाने के भी सबूत मिले हैं.

इसे भी पढ़ें :- फर्जी वेबसाइट प्रकरण में प्रमुख सचिव एवं आयुक्त जनसंपर्क को दिये हाईकोर्ट ने कार्रवाई के निर्देश, फर्जी वेबसाइट घोटाले का मास्टरमाइंड कथित अवधेश भार्गव जल्द जायेगा जेल

इसे भी पढ़ें :- चिन्मयानंद केस : पीड़ित छात्रा के लिए शाहजहांपुर से लखनऊ तक कांग्रेस की न्याय यात्रा

डीजी ईओडब्ल्यू के मुताबिक सिंहस्थ कुंभ मेले 2016 में अस्थाई शौचालय निर्माण में 1 करोड़ 32 लाख रुपए के अतिरिक्त भुगतान के सबूत मिले हैं. इसके अलावा सिंहस्थ क्षेत्र में LED वेपर लैंप लगाने में भी 3 करोड़ रुपए का अतिरिक्त पेमेंट किया गया.

इसे भी पढ़ें :- हनी ट्रैप : मेडिकल की छात्रा प्रीति तिवारी निजी पलों के विडियो का डर दिखाकर करती थी ब्लैकमेल, वसूले 1.38 करोड़ रुपए, हुई गिरफ्तार

डीजी केएन तिवारी ने बताया कि इन दोनों मामलों में उज्जैन नगर पालिक निगम के अफसरों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई है. इसके अलावा लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी यानी पीएचई विभाग के तहत पाइपलाइन बिछाने के एक मामले में प्राथमिक जांच भी शुरू की गई है.

इसे भी पढ़ें :- राष्ट्रीय पत्रकार संगठन “आइसना” में मध्यप्रदेश के विनय जी. डेविड प्रदेश अध्यक्ष चुने गए

डीजी तिवारी के मुताबिक जो काम 15 करोड़ रुपए में हो सकता था, उसके लिए 50 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया. यानी की 35 करोड़ रुपये का अतिरिक्त भुगतान इस मामले में किया गया है. वहीं फर्जी मस्टर रोल बनाने और उसमें 75 लाख रुपये के अतिरिक्त भुगतान मामले में भी प्राथमिक जांच शुरू की गई है.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *