ग्रेसिंम उद्योग की कालोनी में महिला शिक्षिका ने लगाई फासी लगाकर आत्महत्या की, यह रहा गंभीर कारण

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा। बिरला ग्राम थाना अन्तर्गत आने वाले ग्रेसिम उद्योग की स्टॉफ कॉलोनी में शनिवार की रात एक महिला शिक्षिका ने अपने बेडरूम में अपने ही स्कूल की साड़ी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

परिजनो द्वारा हत्या का कारण पति के दिल्ली जाने से नाराजगी बताई जा रही है। वही आस पडोसियों का कहना है की सास बहू मे लम्बे समय से ताल मेल ठीक नही चल रहे थे ओर आये दिन झगडे होते रह्ते थे। सूचना के आधार पर मौके पर रविवार की सुबह 7.30 बजे पहुंची बिरलाग्राम पुलिस के एसआई एच एल विश्कर्मा ने घटना स्थल ग्रेसिम स्टाफ कालोनी 68/3 पर पहुच कर देखा तो बेडरूम का दरवाजा बन्द पाया तो पुलिस ने बाहर की तरफ खुलने वाली खिडकी जिसमे जाली लगी हुई है मे से देखा तो महिला साड़ी के फंदे मे पंखे से झुल्ती हुई दीखी ।

जिस पर पुलिस द्वारा सबसे पहले फोरेन्सिक अधिकारी को सूचना दी गई।फिर दरवाजा तोडने के लिये व्यवस्था की गई जिसमे ग्रेसिम उद्योग मे ही कार्यरत कारपेंनटर को बुलाया गया।जो की घटना स्थल पर पहले से ही मौजुद उद्योग के लोग ओर उद्योग के सिक्योरिटी डिपार्टमेंट के अधिकारी द्वारा तत्काल बुला लिया गया।

इस बिच जब एएनआई न्यूज़ इण्डिया ने फोरेन्सिक वैज्ञानिक अरविंद नायक से बात की तो उनका कहना था की वे किसी अन्य विषय मे तराना जा रहे है ओर वह नागदा नही आ रहे है और उन्के द्वारा जाचकर्ता पुलिस अधिकारी को सभी बातें बाता दी गई है ।

उसके बाद पुलिस द्वारा फोटो ग्राफर को बुलाया गया ओर फिर कार्पेंटर की मदद से दरवाजा खोला गया जो आसानी से खुल गया। उसके बाद महिला का शव जो साड़ी से फन्दा बना कर आत्म हत्या की गई थी उसे उद्योग के व्यक्ति द्वारा चाकू से काट कर निचे उतारा गया।

दरअसल महिला का नाम शिल्पी गौड पति जितेंद्र गौड़ बीसीआई प्राथमिक स्कूल में शिक्षिका थी। उनके पति जितेंद्र ग्रेसिम के पॉवर प्लांट में केमिस्ट के पद पर कार्यरत  है। पति जितेंद्र के दिल्ली में रहने वाले चाचा के मकान का मुहूर्त था। जिसके लिए जितेंद्र ने मां सुशीला, पत्नी शिल्पी और खुद का रिजर्वेशन कराया था, लेकिन पत्नी नहीं गई, ओर मा भी नही गई ।

*आखिर ऐसा क्या हुवा ?*

जो सास सुशीला काे भी यही रुकना पड़ा । शिल्पी की जिद थी कि जितेंद्र भी दिल्ली नहीं जाएं, लेकिन जितेंद्र नहीं माने वे शनिवार शाम करीब 6.30 बजे घर से दिल्ली जाने के लिये नागदा स्टेशन निकल गये । उन्हे हजरत निजामुद्दीन एक्सप्रेस से दिल्ली रवाना होना था ओर वहा रवाना हो गए।

सास का कहना है की पति के दिल्ली जाने से शिल्पी नाराज थी। शिल्पी खुद को अपने कमरे में शनिवार की शाम 6.30 बजे से ही बेडरूम का दरवाजा अंदर से बंद कर आत्मघाती कदम उठा लिया। सास का कहना है की शिल्पी की जानकारी मुझे सुबह लगी जिसके बाद रविवार सुबह जितेंद्र के काका हरलाल शर्मा को इस बारे में पता चलने पर उन्होेंने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पुलिस ने शव उतारकर पंचनामा बनाया और मर्ग कायम कर पीएम के लिए सिविल हिस्पिटल भेजा।

*खुद का और सास का मोबाइल शिल्पी ने अपने साथ कमरे मे बन्द कीया*

जितेंद्र के दिल्ली जाने से नाराज शिल्पी ने रविवार शाम अपना और अपनी सास का मोबाइल बंद कर खुद को कमरे में लाॅक कर दिया था। इसके बाद उन्होंने यह कदम उठाया। शिल्पी तीन साल से बीसीआई प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका है। बताया जा रहा है वे कुछ समय से अवसाद में भी थी। चर्चा में यह भी सामने आया है कि शिल्पी को बच्चे नहीं थे। ओर सास बहू के रिस्ते भी ठीक नही थे।

*डॉक्टर बोले जब एएनआई न्यूज़ इंडिया ने जानकारी ली तो*

– प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का  है।

सुबह 10 बजे पुलिस ने महिला का शव पीएम के लिए सरकारी अस्पताल भेजा। पीएम करने वाले डॉ. कमल साेलंकी ने प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या का ही होने की बात कही। डॉ. सोलंकी ने बताया महिला के शरीर पर चोट के निशान भी नही मिले है। बाकी की जानकारी रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगी।

बिरला ग्राम पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है।

बाईट – मनोहर मीणा,थाना प्रभारी’ बिरला ग्राम थाना


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *