स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर करोडो की ठगी करने वाले गिरोह को किया गया गिरफ्तार

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

सायबर क्राइम ब्रांच द्वारा स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत कर्मचारियों का स्थानान्तरण कराने एंव स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर करोडो की ठगी करने वाले गिरोह को किया गया गिरफ्तार

भोपाल : दिनांक- 17 अक्टूबर 2019   डीआईजी भोपाल शहर श्री इरशाद वली द्वारा धोखाधड़ी के अपराधो में संलिप्त सफेदपोश अपराधियों के विरुद्ध चलाये जा रहे अभियान के संबंध में दिये गये निर्देशो के पालन में सायबर क्राइम ब्राँच की टीम द्वारा स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत कर्मचारियों का स्थानातरण कराने एंव स्वास्थ्य विभाग में नौकर दिलाने के नाम पर करोडो की ठगी करने वाले गिरोह को भोपाल से गिरफ्तार किया गया हैं।

शिकायत आवेदक राकेश कुमार मिश्र निज सहायक माननीय मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मत्री मध्यप्रदेश शासन ने दिनाँक 26/09/2019 को आवेदन पत्र प्रस्तुत किया कि मेरे नाम का दुरूपयोग करते हुए स्वास्थय विभाग के कर्मचारियों से स्थानांतरण के नाम पर 50-50 हजार रूपये एसबीआई खाता में डलवाये गये है शिकायत आवेदन पत्र में रूपये मांगनें वालों के दो मोबाईल नंबर 6232130901 एवं 8827713612 की जानकारी होनें का उल्लेख किया है तथा ई मेल आईडी radhapan2017@gmail.com का तथा एसबीआइ्र बैंक अकाउंट नंबर 20276376526 का उल्लेख किया गया है।

शिकायक आवेदन पत्र की जांच की गई जांच के दौरान उक्त मोंबाईल नंबरों की सीडीआर / कैफ की जांच की गई एसबीआई के उक्त बैंक अकांउंट की जानकारी ली गई । जांच पर एसबीआई का उक्त अकाउंट मालती पवार पति किशोरीलाल पवार नि0 म0न0 986 वार्ड 06 मंडीदीप जिला रायसेन का होना पाया गया तथा उक्त बैक खाता में 50 हजार रूपये स्टॉफ नर्स सुश्री नंदनी बनोटे के भाई शीकेश बनोटे के द्वारा जमा करना पाया गया तथा मो0नं0 8827713612 के धारक शैलेन्द्र पटेल का संबंध बैक खाता धारक मालती पवार से होना पाया गया। जांच पर प्रथम दृष्टया शैलेन्द्र पटेल एवं मालती पवार के विरूद्व अप0 धारा 419,420 तथा 34 भादवि0 का साक्ष्य पाये जानें से अपराध धारा सदर का पंजीबध्द किया गया।

सायबर क्राइम ब्राँच भोपाल में आवेदक के द्वारा प्रस्तुत आवेदन पत्र पर पंजीबद्ध उक्त अपराध  विवेचना के दौरान पाया गया कि सुनीता पटवा पूर्व में अपने साथी धर्मानन्द और दिलशाद की मदद से धोखाधडी कर मालती पवार के नाम से जे.पी. अस्पताल में कार्य कर चूकी है तथा वर्तमान में सुनीता पटवा के नाम से RKDF मेडीकल कालोज में स्टाफ नर्स का रही है ।  उक्त धोखाधडी करने की वारदात में खाता धारक मालती पवार की तलाश उसके दिये पते पर किया जो वहा रहना नही पायी गई । महिला के मोबाइल नम्बर की लोकेशन से बैंक से प्राप्त फोटो को जाटखेडी के आसपास दिखाकर तलाश करने पर लोगो ने इस हुलिये की सुनीता पटवा नाम की महिला पुरानी मल्टी में रहना बताया ।

पुलिस द्वारा सुनीता से गहन पूछताछ करने पर सुनीता ही गिरोह के अन्य सदस्य धर्मानन्द, और दिलशाद की मदद से मालती पवार का शैक्षणिक एंव नर्सिंग का कोर्स हासिल कर जे.पी. अस्पाताल मे नर्स की नौकरी मालती पवार के नाम से करने लगी तथा अपने वेतन का आधा भाग दोनो को हर महिने देती थी इस षडयंत्र की भनक अस्पताल प्रशासन तथा असली मालती को लगने के कारण शातिर महिला सुनीता पटवा जो मालती पवार के नाम से जे.पी. अस्पताल में नौकरी कर रही थी गिरफ्तार के डर से नौकरी छोडकर भाग गई । कुछ समय पश्चात सुनीता नये बने RKDF मेडीकल कालेज में नर्स स्टाफ की नौकरी करने हेतु आवेदन दिया जिसमें उसकी नौकरी लग गई ।

कुछ समय पश्चात गिरोह का सरगना धर्मानन्द, दिलशाद,आलोक सुनीता से मिले तथा बताये की आपका जे.पी.अस्पताल का नर्स की नौकरी के समय का एकाउण्ट आपने खुलवाया था उस खाते का नम्बर एंव एटीएम मुझे दे दो । हम लोग स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों का स्थानान्तरण कराने एंव स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दिलाने के लिये आम जानता को बेबकूफ बनाकर उस खाते में पैसे डालवायेगें और पैसे निकालकर आपस में बाराबर –बाराबर बांट लेगें । और तुमको कोई पकड नही पायेगा । पुलिस की टीम ने शातिर आरोपिया सुनीता पटवा को गिरफ्तार किया तथा उसकी निशादेही पर मालती नाम के कागजात जप्त किये तथा उसके साथी धर्मानन्द को बागसेवानिया से गिरफ्तार किया गया ।

इस वारदात में आरोपी सुनीता पटवा एंव धर्मानन्द गिरफ्तार हो गये है ।  सायबर क्राईम बांच की  टीम के उनि सुरेन्द्र सिहं गरवाल, सउनि शेषनाथ, आर. मो.हारून खान, आर.जावेद खान आर. नीलेन्द्र तिवारी ,म.आर.संगीता लोधी, म.आर. निधि द्वारा आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है ।

आरोपीगणों द्वारा स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत कर्मचारियों का स्थानातरण कराने एंव स्वास्थ्य विभाग में नौकर दिलाने के नाम पर लोगो से सम्पर्क कर आपने खाते में छल पूर्वक रूपये डालवाये जाते थे । आरोपियों के द्वारा आवेदक के नाम का सहारा लेकर अन्य लोगो के साथ ठगी की गई है ।

आरोपियों का विवरण:- क्र. नाम आरोपी व्यवसाय

  • धर्मानन्द गंणपाल पिता बच्चूलाल  उम्र 54 साल निवासी विद्या नगर बागसेवानिया भोपाल व नटराज भवन होम्स मिसरोद रोड भोपाल स्थाई पता हल्दवानी जिला नैनीताल उ.ख. सम्पादक  आज का प्रचंढ (समाचार पत्र)
  • सुनीता पटवा पति स्व. विजय कुमार पटवा उम्र 50 साल निवास जाटखेडी भोपाल स्थाई पता ग्राम बघराजी थाना कुण्डम जिला जबलपुर  नर्स

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *