शिव के लिए भष्मासुर न बन जाये युवा मोर्चा ?

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ JABALPUR

युवा मोर्चा के नेताओं द्वारा प्रदेश भाजपा के वरिष्ठ और कर्मठ नेताओं की छवि धूमिल करने रची जा रही साजिश .युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष को पश्चिम विधानसभा के उम्मीदवार के रूप में प्रस्तुत करते हुए पार्टी और संघठन के वरिष्ठ नेताओं को बदनाम करने का काम कर रहा भाजयुमो

♦ जबलपुर से प्रशांत वैश्य, सत्यनारायण राजपूत की रिपोर्ट 

जबलपुर . सन १९७८ में युवाओं की राजनैतिक आवाज के रूप में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) का गठन श्री कलराज मिश्र जी के नेतृत्व में किया गया। १९८० में भारतीय जन संघ के भारतीय जनता पार्टी के रूप में पुनर्गठन के साथ ही भाजयुमो का आज के प्रारूप का गठन हुआ। भाजयुमो भारतीय जनता पार्टी की युवा शाखा है और भाजपा के संगठनात्मक संरचना के अनुरूप ही भाजयुमो की भी संरचना की गई। मौजूदा भाजपा के कई दिग्गज नेता जैसे श्री कालराज मिश्रा, श्री राजनाथ सिंह, स्वर्गीय श्री प्रमोद महाजन, श्री शिवराज सिंह चौहान, श्री धर्मेंद्र प्रधान श्री जे पी नड्डा इत्यादि ने भी राष्ट्रिय अध्यक्ष के रूप में अपनी सेवाएं भाजयुमो को प्रदान की है।

परन्तु वर्तमान में आपराधिक और अवसरवादी युवा नेताओं के मोर्चा के बड़े पद में बैठने के कारण युवा मोर्चा भ्रष्ट और आपराधिक गतिविधियों में लिप्त रहने वाले युवाओं का संघठन बनता जा रहा है पहले के युवा मोर्चा के युवा नेताओं में जो राष्ट्र प्रेम और समाज के प्रति समर्पण नजर आता था वो भोग विलासता के कारण धुंधला नजर आने लगा है मध्य प्रदेश में युवा मोर्चा की नई कार्यकारिणी बनने के बाद जिस प्रकार आपराधिक और बाहुबली असामाजिक तत्वों को पैसो और ताकत के बल पर युवा मोर्चा के पदों की बिक्री की गई वो किसी से छिपी नहीं है साथ ही संघ और भाजपा का युवा मोर्चा में जैसे जैसे दखल कम हुआ है .मोर्चा संघठन बैगडैल और भौतिकता वादी युवाओ की टोली नजर आने लगा है जिस प्रकार अभिलाष पांडे के युवा मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद संभावना बनी थी कि अब मोर्चा में नई शक्ति का संचार होगा और प्रदेश की राजनीती में युवाओं का कद बढ़ेगा लेकिन जमीनी सच्चाई कुछ और ही हकीकत बंया कर रही है.

  • आज युवा मोर्चा भाजपा की स्वतंत्र इकाई होने के बाद भी भाजपा के अवसर वादी नेताओं के पिछलग्गू नजर आ रहे है .
  • युवा मोर्चा के शीर्ष पद पर जिन लोगो को बैठाया गया है वो नशे और अन्य असामाजिक गतिविधियों में लिप्त पाए गए है

अन्य प्रदेशों के युवा मोर्चा की अपेक्षा श्री पांडे प्रदेशध्याक्ष के नेतृत्व में पिछले एक साल में युवा मोर्चा की नवनिर्मित कार्यकारिणी ने कोई नया चमत्कार नहीं किया बल्कि मोर्चा में जातिवाद और पैसो का जो खेल खेला जा रहा है वो किसी से छिपा नहीं है .मीडिया के भ्रष्ट पत्रकारों को पैसे देकर जिस प्रकार भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का मजाक बनाया जा रहा है और उन्हें युवा मोर्चा के नए नेताओं से कमतर और कमजोर प्रदर्शित किया जा रहा है वो प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए खतरनाक साबित हो सकता है .और कहीं 2018 विधानसभा में प्रदेश युवा मोर्चा मुख्यमंत्री शिवराज के लिए भस्मासुर न बन जाये जिस प्रकार युवा मोर्चा के भ्रष्ट नेताओं द्वारा शहर के भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की छवि धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है उससे तो यही साबित होता प्रतीत हो रहा है कि संघठन तो भाजपा की ही शाखा है लेकिन काम भाजपा के विरुध्द करते नजर आ रहे है .
भाजपा के प्रदेश संघठन द्वारा जांच करने पर पता चल सकता है कि युवा मोर्चा के शीर्ष नेतृत्व में बैठे कई युवा नेता ऐसे है जो कांग्रेस तथा अन्य विपक्षी पार्टियों के एजेंट के रूप में जयचंद की भूमिका निभा रहे है .यदि प्रदेश भाजपा और मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समय रहते युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिलाष पांडे और उनकी टीम को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के विरुद्ध दुष्प्रचार करने से नहीं रोका तो मिशन 2018 प्रदेश भाजपा के लिए खतरे की घंटी साबित हो सकता है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *