लैंगिक संबंध जघन्य हत्याकांड : आरी से शव के धड़, पैर, सिर को काटकर तीन अलग-अलग हिस्सों में…

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • अज्ञात आरोपी की पतासाजी के लिये जुटी हुई थी 5 अलग-अलग टीमें
  • टीम वर्क से पुलिस को मिली सफलता

रायगढ़. सुबह थाना कोतरारोड को मानसरोवर तालाब के पास लेबर सप्लायर संदीप सिंह (45 साल) निवासी खरसिया रोड भगवानपुर का अध कटा शव मिला था । घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक श्री संतोष कुमार सिंह, एडिशनल एसपी श्री अभिषेक वर्मा, नगर पुलिस अधीक्षक अविनाश सिंह ठाकुर, वैरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी श्री आर.के. पैकरा, प्रभारी एफएसएल यूनिट रायगढ़, शहर के टी.आई. एवं उनका स्टाफ, सायबर सेल तथा डॉग स्क्वाड मौके पर पहुंचे थे ।

विवेचकगण द्वारा मौके पर उपलब्ध साक्ष्य एकत्रित किया जा रहा था जिन्हें कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देश पुलिस अधीक्षक द्वारा मौके पर ही दिया गया तथा घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा एडिशनल एसपी एवं सीएसपी रायगढ़ के सुपरविजन में पांच अलग-अलग टीमें निरीक्षक रूपक शर्मा, एस.एन. सिंह, युवराज तिवारी, अमित सिंह, अंजना केरकेट्टा के नेतृत्व में गठन किया गया था ।

सभी टीमों को अलग-अलग कार्य सौंपा गया था । यह टीमें मृतक के व्यापारिक प्रतिस्पर्धा, अवैध संबंध, पारिवारिक/पैतृक झगड़े, वर्तमान में मृतक के साथ आसपास के लोगों के साथ बात व्यवहार, शव के शेष भाग का पता लगाना आदि पर पूछताछ कर जांच में जुटी हुई थी वहीं एक ओर सायबर सेल की टीम उपलब्ध संसाधन के माध्यम से घटनास्थल का CCTV फुटेज, मृतक व उससे जुडे सभी व्यक्तियों के कॉल रिकार्ड का विश्लेषण किया जा रहा था ।

इसे भी पढ़ें :- सनसनीखेज अपहरण प्रकरण का खुलासा, कल्पना से परे रची फरियादी ने अपहरण की साजिश

घटना के संबंध में अप.क्र. 311/19 धारा 302, 201 भादवि की विवेचना में सबसे पहली बाधा थी शव के शेष भाग का पता लगाना पुलिस की जिसे चुनौतीपूर्ण लेत वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं पुलिस पार्टी की सक्रियता से जांच में पता चला कि मृतक संदीप सिंह का पतरापाली किरोड़ीमलनगर में रहने वाले शंकर कुमार पासवान (28 साल) के साथ मिलना जुलना था । शंकर कुमार पासवान जो कि इसी के अंडर JSPL में लेबर का काम करता था ।

पुलिस टीम को यह भी जानकारी मिली की घटना दिनांक के रात्रि पतरापाली में रात्रि शंकर कुमार पासवान को घूमते देखा गया था । संदेह के आधार पर पुलिस टीम द्वारा शंकर कुमार को हिरासत में लिया गया और उससे कड़ी पूछताछ की गई जिसमें आखिरकार उसने जघन्य हत्याकांड का खुलासा करते हुए बताया कि मृतक संदीप सिंह काफी दिनों से शंकर कुमार पासवान के साथ लैंगिक संबंध बनाता था । संदीप सिंह के अंदर काम करने के कारण शंकर दबाव में था वह उसकी इन नजायज जरूरतों को पूरी भी कर रहा था और इस कारण से वह काफी परेशान भी था ।

इसे भी पढ़ें :- चलती ट्रेन मे बच्ची ने लिया जन्म, नागदा जीआरपी की मदद से महिला को पहुचाया अस्पताल

घटना दिनांक 18.10.2019 की रात्रि करीब 9:30 बजे मृतक संदीप सिंह, शंकर पासवान के घर पतरापाली आया । शंकर पूर्व सुनियोनियोजित तरीके से उसके घर पर संदीप सिंह के ऊपर चाकू से वार करने उसे घायल कर दिया और संदीप के मूर्छित होने पर उसका गला दबाकर हत्या कर दिया और आरी से शव के धड़, पैर, सिर को काटकर तीन अलग-अलग हिस्सों में कर अपनी साइकिल में शव के अवशेष को लादकर तीन बार धड़ हिस्से को मानसरोवर में, पैर को मानसरोवर के आगे तथा सिर भाग को मानसरोवर के आगे चिराईपाली रोड में एक पानी टंकी के अंदर डाल दिया था ।

आरोपी के अपराध कबूलनामें के बाद उसके मेमोरेंडम के आधार पर हत्या में प्रयुक्त आरी, साइकल तथा शरीर के शेष भाग को जप्त कर आरोपी शंकर कुमार पिता मुनारिक पासवान उम्र 28 साल पतरापाली किरोड़ीमल मूल निवास झारखंड को गिरफ्तार किया गया है ।

पुलिस अधीक्षक श्री सिंह द्वारा टीम वर्क केलिये सभी की प्रसंशा किये हैं, सम्पूर्ण खुलासा करने में ए.एस.पी. श्री वर्मा, सीएसपी श्री ठाकुर एवं सायबर सेल तथा गठित टीम के सदस्यों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है ।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *