नगरपालिका और उघोग की गलतियों का खामियाजा जनता क्यों भुगते !

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा.  मेहतवास वार्ड क्र 35 मे वर्षो से खुला पडा कच्चा नाला वार्डवासियो की परेशानी का कारण बना हुआ है। लेंसेक्स उघोगो से निकलने वाला प्रदूषित पानी जो चंबल नदी मे जाकर मिलता है एवं यह नाला लैसेक्स उद्योग से लेकर खाटूश्यामजी के मंदिर तक खुला होने की वजह से रहवासियों के लिए परेशानी का कारण बना हुआ है।

इसे भी पढ़ें :- नटवरलाल और जनसंपर्क – पार्ट 1 : जनसम्पर्क ने किया आइसना के विज्ञापन 2 लाख का भुगतान चिटरबाज अवधेश भार्गव के हवाले

नाले में सही निकासी नही होने से वहा रसायनिक पानी एकत्र होकर सड रहा है, जिससे तीव्र गंध आ रही है । साथ ही पास मे शराब की दुकान का कचरा भी वहां महीनो से नाले मे इकठ्ठा होकर बदबू मार रहा है । जिस कारण क्षेत्र में भारी मात्रा मे मच्छरों का आतंक फैल रहा है एवं आये दिन आसपास के लोग बीमार हो रहे है। पशु भी इस पानी को पीकर बीमार हो रहे है।

लैसेक्स उद्योग को पहले ही प्रदूषण विभाग निर्देश दे चुका है कि उघोग अपने रसायन युक्त पानी को नाले मे नही छोडे । उक्त विषय मे नगरपालिका परिषद् ओर दोनो ही अपना पल्ला झाड़ रहे है जिसका खामियाजा वार्डवासियो को भुगतना पड रहा है। वार्ड वासियो ने कई बार उघोगो ओर नगरपालिका को इस विषय से अवगत कराया है बावजूद इसके किसी भी उघोग ओर नगरपालिका के अधिकारियों को कोई फर्क नही पडता ।

नगरपालिका ओर उघोगो को बिरलाग्राम मंडल अध्यक्ष अजय शर्मा, हरहंगी तिवारी एवं वार्डवासियो ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर सात दिनो के अंदर समस्या का निराकरण नही हुआ तो इसके विरोध मे चरणबद्ध तरीके से आंदोलन किया जायेगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *