कंप्यूटर बाबा पर भी लगने लगे अवैध उत्खनन करने वाले ठेकेदारों के साथ सेटिंग के आरोप

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

पन्ना, नदी न्यास के अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा रमनई निजी भूमि की खदान खसरा नंबर 31 का निरीक्षण करने पहंचे उसी दौरान ठेकेदार से मुलाकात कर फोटो खिंचवाए और जब उन्हें ठेकेदार द्वारा पता चला कि ये खदान खनिज मंत्री के रिश्तेदार के सान्निध्य में चल रही है.

तो उन्होंने आनन फानन में दोनों एल एन टी मशीनें हटाकर औपचारिक निरीक्षण कर वहां से रवाना हो गए खसरा नंबर 31पन्ना जिले के अंतर्गत आती है चूंकि यहां के कलक्टर खनिज मंत्री के करीबी माने जाते है इसलिए यहां पर अवैध खनन जोरों पर चल रहा है।

पन्ना जिले में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं माफियाओं के हौसलों के आगे जिला प्रशासन नतमस्तक हो गया है।

ज्ञात हो कि 4 दिन पहले हमने इस पूरी खबर का वीडियो सहित खुलासा किया था खनन माफियाओं ने जिला पन्ना में अपना डेरा लाव लश्कर के साथ डाल लिया है प्रतिदिन चार से पांच जेबीसी मशीनों के साथ करीब सैकड़ों ट्रक का खनन खुलेआम किया जा रहा है। बिना रोक-टोक चल रहा है इस खनन के कार्य में जिला प्रशासन की मिलीभगत नजर आ रही है।

विश्वास सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि इस पूरे खनन मामले में कलेक्टर की सहमति है।

आज हमारे पास एक खनन का वीडियो हमारे प्रतिनिधि द्वारा भेजा गया है जिस में साथ-साथ नजर आ रहा है कि चांदी पार्टी से सैकड़ों ट्रक प्रतिदिन अवैध उत्खनन किया जा रहा है लगातार सुबह से शाम तक यहां जेसीबी मशीने अवैध तरीके खोदने का कार्य लगातार कर रही हैं और किए जा रहे खनन का लोडिंग करके ठाकुर से पूरा का पूरा खनन किए जाने वाला माल किन स्थानों पर ले जाया जा रहा है।

अवैध उत्खनन का वीडियो का पूरा अवलोकन करें

यह पूरा मामला हर्रई के चांदी पार्टी से अवैध उत्खनन का सामने आया है जिसका वीडियो खबर इस बात का प्रमाण है कि लगातार पन्ना जिले में अवैध खनन जारी है यहां कमलनाथ सरकार द्वारा अवैध उत्खनन करने वालों के खिलाफ और बाबा कंप्यूटर ने इनके खिलाफ मुहिम चला रखी है परंतु प्रशासन की छत्रछाया में चल रहे अवैध उत्खनन को क्या कहेंगे वीडियो का पूरा अवलोकन करें और देखें कि आज की स्थिति में अवैध उत्खनन मध्यप्रदेश में चरम पर है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *