फर्जी नियुक्ति पत्र देकर नौकरी का झांसा देने के मामले में पुलिस ने पांच आरोपितों को जेल भेजा

Spread the love

हमीरपुर : फर्जी नियुक्ति पत्र देकर नौकरी का झांसा देने के मामले में पुलिस ने पांच आरोपितों को जेल भेजा है। चार जून को फर्जी नियुक्ति पत्र देने का मामले का भंडाफोड़ हुआ था। जिसमें सदर एसडीएम राहुल यादव ने फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लोगों से ठगी करने वाले सरगना प्रदीप सोनकर निवासी गौरादेवी को पकड़वा कोतवाली पुलिस के हवाले किया था।

जिसके बाद कोतवाली पुलिस सरगना से पूछताछ कर अन्य आरोपियों तक भी पहुंच गई। मंगलवार को पुलिस ने ठगी के शिकार लोगों की शिकायत पर सरगना व उसके भाई दिलीप के साथ किशोर न्याय बोर्ड के कर्मचारियों व अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। वहीं बाद में पुलिस ने एक एक कर आरोपितों को दबोच कर पूछताछ की। पकड़े गए पांच आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने साक्ष्य जुटाने के बाद शुक्रवार को उन्हें जेल भेजा है।

जेल भेजे गए आरोपितों में सरगना प्रदीप सोनकर, किशोर न्याय बोर्ड का कंप्यूटर आपरेटर शानू उर्फ वसीम निवासी सूफीगंज, लिपिक रमेश प्रसाद निवासी गौरा देवी, चतुर्थ श्रेणी कर्मी अनिल कुमार निवासी रमेड़ी मांझखोर व सुभाष बाजार निवासी एक निजी दुकान का कंप्यूटर आपरेटर रोहन निषाद पुत्र रमेश शामिल हैं। कोतवाल शैल कुमार ¨सह ने बताया कि मामले में और भी कुछ नाम आए हैं। जिनके खिलाफ जांच कर साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। उनकी गिरफ्तारी कर साक्ष्य जुटाने के बाद अन्य आरोपितों को भी जेल भेजा जाएगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *