छाल पुलिस ने लॉक डाउन में फंसे दिगर प्रांत के श्रमिकों की ली सुध.

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822  

  • कोसीर पुलिस ने पलायन कर रहे श्रमिकों को‌‌ कराया स्वल्पाहार
  • नगर निरीक्षक अपनी टीम के साथ जुटे रहे शहर में बेसहारों की मदद में

जिले की पुलिस द्वारा लॉकडाउन दौरान जरूरतमंदों तथा उनके थाना क्षेत्र में दिगर प्रांत के फंसे श्रमिकों एवं दूसरे जिलों की ओर पलायन कर रहे भूखे प्यासे श्रमिकों की सुध लेकर उन्हें भोजन/नाश्ता उपलब्ध कराया गया। 

लॉक डाउन दौरान पुलिस की सख्त कार्यवाही से एक ओर जहां पुलिसवालों की छवि कठोर दिखाई दी, वहीं इस तरह के कार्य पुलिसकर्मियों के भीतर मानवीय संवेदनाओं को प्रगट करता है ।

सम्पूर्ण भारत में लॉकडाउन है, जिसमें कहीं ना कहीं श्रमिक व निम्न तबके के लोगों तथा ऐसे लोग जो इस लाक डाउन के दौरान अपने मूल निवास नहीं जा पा रहे हैं, उन्हें भोजन आदि के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ।

इसे भी पढ़ें :- मास्क और हैण्ड सेनिटाइजर आवश्यक वस्तुओं की सूची में शामिल, नियम तोड़ने वालों के विरूद्ध होगी कठोर कार्यवाही, इस टोल फ्री नंबर पर शिकायत करें

ऐसा ही देखने को मिला थाना छाल क्षेत्र के हाटी में मध्यप्रदेश कटनी से कमाने खाने आये कुछ लोग इस लॉकडाउन में अपने घर नहीं जा पा रहे हैं, अपने ठिकाने (हाटी) में फंसे हैं, जिसकी जानकारी थाना प्रभारी छाल निरीक्षक अब्दुल कादिर खान को होने पर आज हाटी उन श्रमिकों के निवास स्थान जाकर उनका कुशलक्षेम पूछे, श्रमिकों द्वारा गृह ग्राम जाने से ज्यादा दिक्कत भोजन की व्यवस्था करने में होना बताये, जिन्हें थाना प्रभारी छाल द्वारा आवश्यक सेवाएं छाल क्षेत्र में जारी होना बताया व उनके लिए स्टाफ से भोजन आदि की व्यवस्था कराये ।

इसे भी पढ़ें :- नोवेल कोरोना वायरस (कोविद-19) के कारण स्वास्थ्य विभाग में डॉक्टरों की कमी को देखते हुए रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में इंटर्नशिप कर रहे 43 छात्रो को डॉक्टर बनाया गया

आज सुबह थाना कोसीर स्टाफ को सुरक्षा व्यवस्था दौरान कुछ महिलाएं-पुरुष छोटे बच्चों के साथ बिलाईगढ़ की ओर जाते दिखे, जिन्हें स्टाफ द्वारा रोककर पूछताछ किया गया तो बताएं कि
बिलाईगढ़ बलोदा बाजार के रहने वाले हैं । रायगढ़ में मजदूरी का कार्य कर रहे थे, लॉक डाउन होने के कारण सभी पैदल ही बिलाईगढ़ बलौदा बाजार जा रहें हैं, उन्होंने बताया कि रायगढ़ से लगभग 100 किलोमीटर पैदल चलते हुए आए हैं, जिसमें बच्चे, बुजुर्ग महिलाएं शामिल थी ।

इसे भी पढ़ें :- मां के अंतिम संस्कार के लिए निकले बेटे को पुलिस ने बेरहमी से पीटा, मुखाग्नि नहीं दे पाया बेटा

उनकी व्यथा को देखकर इस बात की जानकारी स्टाफ द्वारा थाना प्रभारी कोसीर निरीक्षक विजय पैंकरा को दिया गया जिन्होंने तत्काल श्रमिकों को थाना परिसर बुलाए व कुछ देर आराम करने के लिए बोले। इसके बाद थाना प्रभारी कोसीर द्वारा उनके लिए नाश्ता की व्यवस्था कराई गई पुलिस की छवि को देखकर श्रमिक कुछ देर पशोपेश में रहे फिर जाते हुए कोसीर पुलिस को साधुवाद दे गये।

आज नगर निरीक्षक एस.एन. सिंह द्वारा अपनी टीम के साथ शहर के रेलवे स्टेशन, केवड़ाबाड़ी बस स्टैंड, साईं मंदिर, बंगला पारा नंदी बैला, गौरी शंकर मंदिर के पास जरूरतमंदों को भोजन व्यवस्था कराए। इस दौरान उन्हें जानकारी मिली कि बस स्टैंड में उत्तर प्रदेश के काफी संख्या में कुछ लोग रुके हुए हैं तब जाकर तस्दीक किए । बस स्टैंड में मिले लोगों ने उत्तर प्रदेश के रहने वाले एवं पूजा अनुष्ठान का कार्य करना बताएं जिनके लिए थाना प्रभारी द्वारा भोजन की व्यवस्था कराई गई ।

अन्य थाना प्रभारी द्वारा भी अपने क्षेत्र के झुग्गी बस्तियों में रहने वाले जरूरतमंदों के मोहल्ले में जाकर उनके भोजन आदि की व्यवस्था कराएं एवं लाक डाउन दौरान उन्हें घरों में रहने की हिदायत दिए।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!