वीडियो ख़बर इंदौर : डॉक्टर स्वास्थ्य कर्मियों के साथ मारपीट और पथराव जैसी घटना उक्त कृत्य करने वाले सभी जेल जाएंगे और जल्दी नहीं छूटेंगे : कलेक्टर मनीष सिंह

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

इंदौर में कोरोना संदिग्धों की जाँच के लिए पहुँचे डाॅक्टरों और अन्य कर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने के 7 आरोपी गिरफ्तार  इंदौर में कोरोना संदिग्धों की जाँच के लिए पहुँचे स्वास्थ्य अमले में शामिल डाॅक्टरों और अन्य कर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दस अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। इस बीच इंदौर में कोरोना के 12 और नये रोगी मिले हैं। गुरुवार को दो और मौतें इंदौर में दर्ज हुई हैं।  

बुधवार को इंदौर के टाटपट्टी बाखल और सिलावटपुरा में हंगामा हुआ था। टाटपट्टी बाखल में कोरोना संदिग्धों की जाँच के लिए जब टीम पहुँची तो मोहल्ले के लोगों ने डॉक्टरों से बहस की थी। बाद में देखते ही देखते भीड़ उग्र हो गई थी। धक्का-मुक्की और मारपीट के बाद पीछे हटते स्वास्थ्य दल पर भीड़ ने जमकर पथराव कर दिया था। अमले के लोग किसी तरह अपनी जान बचाकर भागे थे। कई लेगों को चोटें आयी थीं। अमले में शामिल महिला डाॅक्टर और आशा कार्यकर्ताओं के अनायास हमले से हाथ-पैर फूल गये थे। घटनाक्रम की देश भर में निंदा हुई थी। 

मुसलिम बाहुल्य ये बस्तियाँ कोरोना से ख़ासी प्रभावित हैं। क़रीब एक दर्जन प्रभावित बस्तियों को पूरी तरह से सील किया गया है।  इंदौर ज़िला प्रशासन और प्रदेश की सरकार ने पूरे घटनाक्रम को बेहद गंभीरता के साथ लिया। भारी पुलिस बल मौक़े पर तैनात किया गया। अर्धसैनिक बल की टुकड़ियों को भी बुलाया गया। घटनाक्रम के बाद स्थानीय लोगों द्वारा बनाये गये वीडियो देखे गये। चश्मदीदों से भी वीडियो में नज़र आने वालों की शिनाख्त कराई गई।   

टाटपट्टीबाखल के घटनाक्रम पर दण्डात्मक कार्यवाही होगी : डीआईजी श्री हरि नारायणाचारी

इंदौर के डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्रा के अनुसार वीडियो फुटेज और अन्य माध्यमों से हुई शिनाख्त के बाद पुलिस ने गुरुवार को चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किये गये लोगों में पूरे घटनाक्रम को अंजाम देने में आगे रहने वाला मुख्य आरोपी भी शामिल है। दस अन्य उन लोगों की भी पहचान हो गई है, जिन्होंने स्वास्थ्य अमले और पुलिस पर हमला बोला तथा पत्थरबाज़ी की। उनकी खोजबीन पुलिस अभी कर रही है।   

डीआईजी मिश्रा के अनुसार गिरफ्तार किये गये सभी आरोपियों पर शासकीय कार्य में बाधा डालने के साथ भादवि की धारा 186, 188 और 353 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। उधर भाजपा विधायक और इंदौर की महापौर मालिनी गौड़ ने माँग की है कि स्वास्थ्य अमले पर जानलेवा हमला करने वालों के ख़िलाफ़ हत्या के प्रयास की धारा 307 भी लगाई जाए। प्रशासन ने जाँच के बाद ज़रूरी होने पर इस धारा को बढ़ाने का भरोसा महापौर को दिलाया है। 

टाटपट्टी बाखल की घटना से आहत कलेक्टर ने इंदौर के लोगों से किया सवाल आखिर हम काम किसके लिए कर रहे हैं

एमवाय हॉस्पिटल कलेक्टर पहुचे कल टाटपट्टी बाखल में सर्वे करने पहुंचे एएनएम कार्यकर्ता और स्वास्थ्य कर्मियों के साथ मारपीट और पथराव जैसी घटना से आहत इंदौर के कलेक्टर मनीष सिंह ने इंदौर के लोगों से सवाल किया है कि आखिर हम काम किसके लिए कर रहे हैं। कलेक्टर ने कहा कि इस घटना को टॉलरेट नहीं किया जाएगा ।

इस तरह की बदतमीजी बर्दाश्त नहीं होगी । ऐसे लोगों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी । उक्त कृत्य करने वाले सभी जेल जाएंगे और जल्दी नहीं छूटेंगे ।कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि उन्होंने एसएएफ की पांच कंपनियां मांगी है। कलेक्टर आज एम वाय हॉस्पिटल में डॉक्टरों से मिलने पहुंचे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!