कोरोना वाइरस और लॉकडाउन के प्रति प्रशासन की लापरवाही उजागर, टोटल लॉकडाउन में जैन मंदिरों में की जा रही पूजा अर्चना, देखें वीडियो

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

मालथौन सागर से रिपोर्टर अनिल तिवारी की रिपोर्ट 

मालथौन. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मानव सभ्यता के सामने खतरा बनकर उभरे कोरोना वायरस की बीमारी को फैलने से रोकने के लिए पूरे भारत में 14 अप्रैल तक 21 दिन के नेशनल लॉकडाउन की घोषणा की है। तीन सप्ताह लंबे इस लॉकडाउन में जरूरी सेवाओं और उससे जुड़े लोगों को छोड़कर बाकी लोगों से घरों पर ही रहने की अपील की गई है और चेतावनी दी गई है कि उल्लंघन करने पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

प्रधानमंत्री मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन के बाद गृह मंत्रालय ने डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत 6 पेज का गाइडलाइन जारी किया है जिसमें बताया गया है कि लॉकडाउन के दौरान क्या खुला रहेगा, क्या बंद। कोरोना वायरस लॉकडाउन गाइडलाइंस में सरकार ने साफ कर दिया है अगले 21 दिन पूरे देश में पूजा-पाठ, प्रार्थना, इबादत घर में ही किए जाएं और इस दौरान मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारा समेत सारे धार्मिक स्थल आम लोगों के लिए बंद रहेंगे।

गाइडलाइंस में ये भी स्पष्ट किया गया है कि बिना किसी अपवाद या छूट के किसी भी धार्मिक सभा को लॉकडाउन के दौरान इजाजत नहीं दी जाएगी। इसका मतलब ये है कि आने वाले 21 दिन में आम लोगों को घर में ही पूजा पाठ और इबादत करनी होगी।

परन्तु मालथौन सागर जिले की तहसील मुख्यालय मालथौन पर कोरोना वायरस को लेकर जिले में टोटल लाँकडाउन की प्रकिया चल रही है। जिसमे मैडीकल अस्पताल को छोड़कर सभी प्रकार से टोटल लाँकडाउन रखा गया है। लेकिन मालथौन मुख्यालय पर मंदिर मस्जिद सभी बंद रखे गये हैं। लेकिन मुख्यालय पर तीन जैन मंदिर है इन मंदिरों में सुबह शाम मंदिरों के गर्भ ग्रह में जैन समाज भगवान महावीर प्रभु को द्रव अर्पित कर पूजा अर्चना कर रहे हैं। वो भी बगैर मास्क लगाए पूजा अर्चना कर रहे हैं ।

हमारे  ANI News India रिपोर्टर ने इस संबध में तहसीलदार मालथौन से बात कर मौका पर बुलबाया तो उन्होंने समाज को बुलाकर समझाईस देकर मामला रफा दफा कर दिया है. शायद लोकल प्रशासन कोरोना वायरस और लॉकडाउन के प्रति सजग नहीं है. कहीं ऐसा न हो प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह की लॉकडाउन की मेंहनत में पानी फिर जाए। इस संबंध में जब लोकल प्रशासन से जानकारी चाही तो बाइट देने से इंकार कर दिया गया.

दरअसल, कोरोना वायरस का कहर अब बढ़ता जा रहा है। इससे बचाव को लेकर सरकार काफी मुस्तैदी से लगी है। आदेश के अनुसार, प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों को भी बंद करने की बात कही गई है। सरकार ने सभी धर्मगुरुओं से इसमें सहयोग की अपील भी की है। इस फैसले के तहत मंदिर, गुरुद्वारा, मस्जिद व अन्य स्थलों को बंद रखा जाएगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!