ग्राम पंचायत के चडूड में मजदूरी की राशि में गड़बड़ घोटाला

Spread the love

मुलताई से तनवीर सोलंकी की खबर

मुलताई। मजदूरों को नहीं पता अपनी मजदूरी ,आंधी तूफान से उड़ी मकान की छत नहीं कि ग्राम पंचायत के अधिकारियों ने कोई मदद गोदनी पंचायत के अंतर्गत ग्राम चडूड में संतोष राजूकर के घर की छत दिनांक 14/05/ 2020 को शाम 4:00 बजे तेज आंधी तूफान से उड़ गई जिससे उनका घर प्राकृतिक आपदा से क्षत-विक्षत हो गया ग्राम के सरपंच ने नहीं की किसी भी तरह की मदद 4 दिनों से संतोष राजू कर अपनी पत्नी इंदिरा राजू कर और बच्चों के साथ मकान के सामने रोड पर ही खाना बना रहे हैं अपनी रह गुजर कर रहे हैं।

विस्तृत जानकारी के लिए देखें यह वीडियो

ग्रामीणों की तरफ से भी मदद नहीं की जा रही है संतोष राजू कर ने बताया कि उनके पड़ोसी मित्र उन्हें शाम का भोजन उपलब्ध करा रहे हैं , पंचायत की पीड़ित के प्रति लापरवाही देखी जा रही है वहीं शासन के तरफ से कुछ राहत राशि मिल जाए ऐसी आशा संतोष राजूकर रखते हैं वही ग्राम चडुड दूसरी खबर में ग्रामीण मजदूरों के द्वारा वर्षा का जल रोकने के लिए खंन्ति खोदी जा रही है।

जिसमें मजदूरों को अपना मजदूरी शुल्क ही नहीं मालूम Toc news ने जब मजदूरी की राशि के विषय में बात की तो मजदूर सुनील गायकवाड़ ने बताया कि ₹170 और ₹180 दिए जा रहे हैं कुल मिलाकर ग्राम में मजदूरों के साथ उन्हें अंधेरे में रखकर शोषण किया जा रहा है।

सुनील गायकवाड ने बताया कि 20 दिनों से काम चालू है उन्हें ₹175 मजदूरी दी जा रही है वही दूसरे साथी मजदूर कृष्णा क्वाडकर ने बताया कि यहां 80 मजदूर काम कर रहे हैं ₹180 की मजदूरी दी जा रही है रोजाना दो खंती खोदने का टारगेट रहता है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!