वी.वी.एस.लक्ष्मण से सीख सकते है क्रिकेट और डब्बू रत्नानी से फोटोग्राफी

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA  @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822

  • पाठ्य सहगामी क्रियाकलाप आय एम द वन कार्यक्रम लांच
  • पढ़ाई के साथ मनोरंजन गतिविधि सीखने स्कूली शिक्षा मंत्री श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने लॉच किया कार्यक्रम

रायगढ़, छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा 7 अप्रैल 2020 से लगातार ऑनलाइन अध्यापन जैसी सुविधाएं cgschool.in वेब पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के छात्र-छात्राओं को सीधे उनके घर उपलब्ध करवा रही है पढ़ाई तुंहर दुआर योजना के माध्यम से छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग ने वेब पोर्टल का निर्माण किया और इस पोर्टल में प्रदेश के लगभग 20 लाख से भी अधिक बच्चों को और 80 हजार से भी अधिक शिक्षकों को पढ़ाई तुँहर दुआर योजना में जोड़ा गया।

संबंधित वेब पोर्टल में कक्षा 1 से 12 तक के बच्चे और महाविद्यालय छात्रों के ऑनलाइन अध्यापन सुविधा उपलब्ध कराई गई है। छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग ने महसूस किया कि लगातार पढ़ाई के साथ-साथ कुछ जीवन उपयोगी, मनोरंजक चीजों का समावेश भी इस कार्यक्रम में किया जाना चाहिए इसलिए शिक्षा मंत्री श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम के द्वारा 15 मई 2020 को पाठ्य सहगामी क्रियाकलाप के रूप में आई एम द वन कार्यक्रम को लांच किया गया और इस कार्यक्रम का उद्घाटन शिक्षा मंत्री ने स्वयं अपने हाथों से किया।

वेब पोर्टल में आई एम द वन कार्यक्रम को अब शामिल कर दिया गया है इस कार्यक्रम के जरिए स्कूली छात्रों को शिक्षा के साथ-साथ अन्य पाठ्य सहगामी क्रियाकलाप जैसे चित्रकला, डांस, कराटे, योग, फोटोग्राफी, कोरियोग्राफी, क्रिकेट आदि सीखने में सहायता मिलेगी। शासन के द्वारा किए गए इस पहल से स्कूली बच्चों को ग्रीष्मावकाश में पढ़ाई के साथ ही साथ अन्य मनोरंजक गतिविधियों और क्रियाकलापों में भाग लेकर यह सब गुर सीखने के मौके मिलेंगे। आई एम द वन कार्यक्रम में शॉर्ट टर्म कोर्स उपलब्ध कराए जाएंगे जिनमें प्रदेश के छात्रों के रुचि के अनुरूप मोबाइल फोटोग्राफी, पेंटिंग, योग, क्रिकेट, चित्रकारी, नृत्य, कोरियोग्राफी इत्यादि विधा शामिल होगी।

आई एम द वन कार्यक्रम के ऑनलाइन प्रोग्राम में देश के प्रसिद्ध क्रिकेटर वी.वी.एस. लक्ष्मण, फोटोग्राफर डब्बू रत्नानी, किशनगढ़ शैली के चित्रकार पद्मश्री तिलक गीताई, योग गुरु आचार्य प्रतिष्ठा और कोरियोग्राफर सुमित नामदेव के दिशा निर्देशन में स्कूली बच्चे क्रिकेट, योग, कोरियोग्राफी, पेंटिंग,फोटोग्राफी इत्यादि कलाओं के गुर सीख सकेंगे।

शिक्षा मंत्री ने कार्यक्रम के दौरान कहा कि ग्रीष्मकालीन काल अवकाश के दौरान बच्चों को मात्र अध्ययन-अध्यापन में व्यस्त रखना उचित नहीं है उन्हें पढ़ाई के साथ-साथ अन्य मनोरंजक गतिविधियों और क्रियाकलापों में भी सम्मिलित करना अत्यावश्यक है। मनोरंजक क्रियाकलाप और विविध कौशल सीखने के लिए उन्हें अवसर दिया जाना चाहिए। छत्तीसगढ़ में इसके लिए आईडिया टेक्नोवेशन द्वारा इस अवधि में राज्य के बच्चों के लिए उनका विशेष कार्यक्रम आई एम द वन के नि:शुल्क उपयोग किए जाने का प्रस्ताव दिया।

इस कार्यक्रम में बच्चों एवं बड़ों के लिए बहुत सारे आकर्षक और उपयोगी ऑनलाइन कोर्सेस हैं जो बहुत अच्छी गुणवत्ता के साथ बनाए गए हैं उन्होंने बताया कि आई एम द वन कार्यक्रम में सहजता से जुड़ा जा सकता है। इसको शिक्षा विभाग की वेबसाइट ष्द्दह्यष्द्धशशद्य.द्बठ्ठ पर मोबाइल से पंजीयन कर सीधे जुड़ सकते हैं। विभिन्न कोर्सेस में से अपने इच्छा और रूचि इच्छा और रूचि के अनुरूप किसी भी कोर्स में शामिल होकर अपनी सुविधा अनुसार निर्धारित समय में इसे पूर्ण कर सकते हैं। ऑनलाइन कोर्स पूर्ण करने के उपरांत उन्हें सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।

रायगढ़ जिले में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को भी इसका समुचित लाभ मिल सके। इसलिए उन्हें पढ़ई तुंहर दुआर के ऑनलाइन लाइव क्लासेज के दरमियान ही यह सूचना दी जाएगी कि छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा आई एम द वन कार्यक्रम लांच किया गया है। जिसमें अधिक से अधिक छात्र अपनी रुचि के अनुरूप किसी भी विधा का चयन करेंगे और शॉर्ट टर्म कोर्स करके अपने कौशल को निखार सकेंगे। शासन द्वारा आई एम द वन कार्यक्रम लांच करने से रायगढ़ जिले के अधिकाधिक छात्र इसमें रुचि लेंगे और विविध विधा में अपनी कौशल विकसित करने का लाभ ले सकेंगे साथ ही यह अध्ययन-अध्यापन कार्य में छात्रों में रुचि जगाने के लिए एक बेहद कारगर कदम सिद्ध होगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!