राजनीति की भेंट चढ़ा अरिहंत आरो प्लांट आखिर 37 दिन बाद खुल ही गया, वजह थी यह गंभीर आरोप

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA  @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

आखिर मेरी क्या गलती थी जो प्लांट को सील किया गया – यही ना की 10 रुपये प्रति 20 लिटर पानी दे रहा हूँ ।

नागदा।  अरिहंत आरो प्लांट का 37 दीन बाद ताला खुला । लॉक डाऊन के दौरान खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी द्वारा प्लांट को सील किया गया था । शिकायत मिली थी की प्लांट विद्युत और पानी की चोरी कर संचालन कर रहा है.

कम कीमत पर उपभोक्ता को पानी दिया जा रहा है जिसकी जांच में आए अधिकारी प्लांट पर  संचालक के उपस्थित ना होने की वजह से घंटो इंतजार के बाद पूरे प्लांट को सील कर चले गये थे। जो आज 37 दिनो के बाद सभी जांच परताल कर खोल दिया गया। जांच में सभी शिकायते झूठी पाई गई। वही अधिकारी का कहना था की कम कीमत पर पानी देना कोई गुनाह नही है यह संचालक पर निर्भर करता है की वह क्या कीमत लेना चाहता है।
.

संचालक संदीप जैन ने अपनी नाराजगी जताते हुये आरो वाटर युनियन पर आरोप लगाते हुये कहाँ की ये लोग मुझे हर बार परेशान करते है मेरे प्लांट पर हर बार कार्यवाही करवा कर प्लांट बन्द करवाया जाता है जिससे मेरा लाखों का नुक्सान होता है वही मेरे यहाँ कार्य करने वाले मजदूर भी परेशान होते है। मै इन सभी परेशानियों के बाद भी यदि पानी 10 रुपय प्रति केन पूरे साल भर ग्राहकों को दूँगा चाहे ये लोग किसी भी हद तक मुझे परेशान करे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!