स्कूल भवनों को पूरी तरह सेनेटाइज करने के बाद ही स्कूल प्रारंभ होगा-कलेक्टर श्री भीम सिंह

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA  @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

  • किसानों की गलत जानकारी भरने पर सीएससी (कामन सर्विससेंटर)संचालकों के विरूद्ध दर्ज होगी एफआईआर
  • कलेक्टर ने टीएल (समय-सीमा) की बैठक में की विभागीय कार्यों की समीक्षा

रायगढ़, कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज कलेक्टोरेट स्थित सभाकक्ष में टीएल (समय-सीमा)की बैठक में सभी जिला स्तर के विभागीय कार्यों की प्रगति की समीक्षा की।

उन्होंने स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिले में बाहर से आने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या कम हो गई है और पहले से क्वारेंटीन में रहने वाले व्यक्तियों की सेम्पल रिपोर्ट प्राप्त होने तथा क्वारेंटीन अवधि समाप्त हो रही है। जिले के जिन स्कूल भवनों को क्वारेंटीन सेंटर बनाया गया था वे अब खाली हो रहे है अत: ऐसे स्कूल भवनों और पूरे परिसर को अच्छी तरह सेनेटाइज और संपूर्ण भवन का रंग-रोगन किये जाने के बाद ही स्कूल प्रारंभ होंगे।

कलेक्टर श्री सिंह ने विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिले के सभी एसडीएम को उनके क्षेत्र के भूमिहीन व्यक्तियों का सर्वे में तेजी लाने के निर्देश देते हुये कहा कि राशन कार्ड का पटवारी के माध्यम से बी-1 से मिलान करें तथा रोजगार गारंटी कार्ड के माध्यम से भी पता कर ले और अंत में भूमिहीन पाये जाने पर उनके घरों में जाकर सत्यापित कर वास्तविक जानकारी एकत्र कर प्रशासन को सौंपे जिससे भविष्य में भूमिहीन व्यक्तियों को शासन की योजनाओं का लाभ मिल सकेगा।

उन्होंने खनिज विभाग के अधिकारियों को कहा कि आम नागरिकों को शासन द्वारा निर्धारित दरों पर रेत उपलब्ध हो यह सुनिश्चित करें और पिछले दिनों अवैध खनन के विरूद्ध चलाये गये अभियान में जो रेत राजसात की गयी है उन्हें नियमानुसार नीलाम करें एवं जिन पंचायतों को निर्माण कार्यों के लिये रेत की आवश्यकता है वे परमिशन प्राप्त कर राजसात की गई रेत में से आवश्यकतानुसार रेत का उपयोग कर सकते है।

कलेक्टर श्री सिंह ने कृषि विभाग के अधिकारी से वर्तमान खरीफ फसल सीजन में जिले में अब तक बुआई की जानकारी ली तथा किसानों को उनकी मांग के अनुसार बीज एवं खाद उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। उप संचालक (कृषि)ने बताया कि जिले में खरीफ फसल की 44 प्रतिशत बुआयी पूर्ण हो चुकी है। कलेक्टर श्री सिंह ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत जिले के सभी पात्रता रखने वाले किसानों को इस योजना का लाभ दिलाने के निर्देश दिये।

साथ ही उन्होंने ऐसे सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर)संचालकों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिये, जिन्होंने थोड़े से पैसे का लालच में किसानों को लाभ दिलाने का भरोसा देते हुये गलत जानकारियां अपलोड कर देते है। कृषि विभाग किसानों को गलत जानकारियों का अपलोड वाले आईडी के माध्यम से जानकारी प्राप्त कर संबंधित सीएससी के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के लिए निर्देशित किया।

कलेक्टर श्री सिंह ने लोक सेवा गारंटी योजना के अंतर्गत विभिन्न विभागों में प्राप्त होने वाले आवेदनों के लंबित प्रकरणों की समीक्षा करते हुये कहा कि ऐसे आवेदन जो वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से प्राप्त हो उनका भी निराकरण करना है यदि आवेदन के साथ कोई दस्तावेज में कमी है तो आवेदक को बुलाकर पूर्ति करावे ऐसे आवेदनों को निरस्त नहीं किया जाये। गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने निर्देश दिया था कि कोई व्यक्ति सादे कागज पर भी आवेदन दिया है तो उसके आवेदन पर सुनवाई और कार्यवाही होगी। कलेक्टर श्री सिंह ने सभी शासकीय कार्यालयों में उनके विभाग में रोजगार गारंटी सेवाओं में उल्लेखित सेवाओं की जानकारी आवेदन शुल्क, निर्धारित समय-सीमा और संलग्न दस्तावेजों का विवरण सहित कार्यालय के सामने बोर्ड लगाकर प्रदर्शित करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के शहरी और ग्रामीण अंचल में बार-बार पावर कट होने की व्यवस्था में सुधार लाने के लिये विद्युत विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। उन्होंने राज्य शासन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण योजना ‘नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी ‘ को विकसित किये जाने पर जोर देते हुये कहा कि जिले की सभी ग्राम पंचायतों में गौठान निर्माण किया जाना है। यह जिम्मेदारी जिले के सभी एसडीएम को सौंपते हुये उन्हें अपने-अपने क्षेत्रों की गौठानों के निर्माण की प्रगति का अवलोकन करने और उसमें पैरा, पानी, बिजली, पौधा रोपण की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। साथ ही गौठान बनाये जाने वाली भूमि का अतिक्रमण तत्काल हटाये जाने के भी निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री सिह ने जिले के लैलूंगा में छ.ग.गृह निर्माण मंडल द्वारा निर्मित आवासों तथा नजदीकी अन्य शासकीय परिसरों में पेयजल आपूर्ति के लिये लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी तथा गृह निर्माण मंडल के अधिकारियों को समन्वय स्थापित कर जल आपूर्ति व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने उद्योग और श्रम विभाग तथा रोजगार विभाग के अधिकारियों को प्रवासी मजदूरों को उनकी पूर्व में किये गये कार्यों के अनुसार उनके नजदीकी क्षेत्रों में संचालित उद्योगों में यथाशीघ्र रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री सिंह ने जिले के सभी एसडीएम को निर्देशित किया जिले के हाट-बाजारों को स्थानीय ग्रामीणों की सहमति से प्रारंभ करावे तथा हाट-बाजारों में मेडिकल हेल्थ सेंटर संचालित हो तथा एम्बुलेंस भी उपलब्ध रहे यह सुनिश्चित करें। उन्होंने हाट-बाजारों में आने वाले व्यक्तियों को मॉस्क पहनने की अनिवार्यता तथा सोशल डिस्टेसिंग के नियमों का पालन करने के लिए प्रेरित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री सिंह ने समीक्षा के दौरान लोक निर्माण विभाग तथा ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के अधिकारियों को सड़कों के मरम्मत कराने के लिए निर्देशित किया तथा समस्त विभागीय कार्यालयों में अनुपयोगी सामग्रियों (स्क्रेप)को आगामी एक सप्ताह में नियमानुसार नीलामी किये जाने हेतु निर्देशित किया।

टीएल की बैठक में सभी विभागों के कार्यालय प्रमुखों ने अपने-अपने विभागों द्वारा किये गये कार्यो का ब्यौरा प्रस्तुत किया। बैठक के दौरान एडीएम श्री राजेन्द्र कुमार कटारा, जिला पंचायत सीईओ सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंशी, निगम आयुक्त श्री आशुतोष पाण्डेय सहित सभी विभागों के जिला कार्यालय प्रमुख उपस्थित थे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!