शिकायत के बावजूद किसानों को नही मिला दूसरा बीज, फर्जी बीज के मामले में 15 दिनों के बाद भी नही हुई कार्यवाही

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA  @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल 7509020406 

मुलताई। ग्राम परमंडल के लगभग 93 किसानों ने सोसायटी से सोयाबीन का बीज खरीदा था जो अंकुरण नही होने पर किसानों ने पूरे मामले की शिकायत संबन्धित अधिकारी से की गई थी। लेकिन 15 दिनों से अधिक समय होने के बावजूद ना तो फर्जी बीज के एवज में किसानों को दूसरा बीज मिल पाया और ना ही बीज कंपनी पर ही कोई कार्यवाही हुई जिससे किसानों में रोष व्याप्त है। 

किसान संघर्ष समिति के भागवत परिहार ने बताया कि परमंडल के किसानों ने बायोब्लिस सीड का 6600 रूपए प्रति क्विंटल का बीज खरीदा था लेकिन बुआई के बाद बीज का अंकुरण नही हुआ जिससे किसान जहां आर्थिक रूप से प्रभावित हुए वहीं उन्हे दोबारा बोवनी करना पड़ेगा।

इसकी शिकायत एसडीएम मुलताई तथा कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर से किसानों द्वारा विगत 10 जून को की गई थी जिस पर डिप्टी डायरेक्टर भगत द्वारा तत्काल एक जांच टीम बनाकर बीज की जांच के लिए रवाना की गई थी । पूरे मामले में पूर्व विधायक डा.सुनीलम ने किसानों के साथ हुई धोखाधड़ी पर कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण भी दर्ज करने उसे ब्लेक लिस्टेड करने की मांग की गई थी।

नही मिला दूसरा बीज ना हुई कार्यवाही

किसान संघर्ष समिति के भागवत परिहार सहित अन्य किसानों ने बताया कि लगभग 15 दिनों से अधिक हो गए ना तो किसानों को दोबारा बीज दिया गया और ना ही संबन्धित कंपनी की जांच कर कार्यवाही ही की गई। उन्होने बताया कि किसानों ने सोसायटियों पर भरोसा करके मंहगा बीज लिया था लेकिन बदले में किसानों को आर्थिक क्षति के साथ ही पूरी मेहनत पर पानी भी फिर गया जिससे किसानों ने ज्ञापन के माध्यम से कार्यवाही की मांग की गई थी लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नही हुई है।

कार्यवाही नही होने से किसानों में रोष

बताया जा रहा है कि कृषि विभाग के डिप्टी डायरेक्टर भगत द्वारा पूरे मामले में जांच टीम बनाकर बीज की जांच के लिए रवाना भी की गई थी लेकिन कार्रवाई क्या हुई इससे शिकायतकर्ता किसानों को अभी तक अवगत नही कराया गया। वर्तमान में किसानों को दोबारा बीज लेकर फिर उतनी ही मेहनत से बुआई करना पड़ रहा है जिसे लेकर किसानों में रोष व्याप्त है। किसान  नेता भागवत परिहार ने बताया कि कार्यवाही की जानकारी किसानों को देना आवश्यक था लेकिन जानकारी नही देने से पूरी कार्यवाही संदेह के घेरे में है।

इनका कहना

बीज अंकुरण नही होने के मामले में डिप्टी डायरेक्टर कृषि विभाग द्वारा जांच के लिए टीम बनाकर भेजी गई थी लेकिन कार्यवाही क्या हुई इसकी जानकारी मुझे नही दी गई है,उक्त जानकारी कृषि विभाग के डायरेक्टर ही दे सकते हैं।

सीएल चनाप एसडीएम मुलताई।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!