श्रमिकों की गर्दन काटने का कार्य कर रहा उद्योग प्रबंधन

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA  @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

मरने से अच्छा है कूछ तो करे

नागदा, आदित्य बिड़ला ग्रुप की सबसे बड़ी ईकाई ग्रेसिम इंडस्ट्रीज के सविदा ठेका श्रमिको के सामने रोजी रोटी का संकट गहराता जा रहा है. श्रमिको को घर चलाना भारी पड़ रहा है वही बेरोजगारी का डर सताने लगा है।

कोविड 19 के चलते उद्योग बन्द कर दिये गये. जिसकी वजह से उद्योग में कार्यरत श्रमिकों को घर बैठने पर मजबूर होना पड़ा । किन्तु लॉक डाऊन खुलने के बाद उद्योग पुन: चालू भी हो गये है और ठेका श्रमिक उद्योग की ओर टकटकी लगाये इंतजार करते रह गये की उद्योग उन्हे कार्य पर बुलायेगा ।

वीडियो ख़बर :- विनोद शर्मा – तहसीलदार , सविदा ठेका श्रमिक

.

लेकिन ऐसा हुवा नही । जिसकी वजह से मजदूरों के सामने आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। वही उद्योग की निष्क्रियता की वजह से ठेका श्रमिको को बेरोजगारी का डर सताने लगा है जिसे देखते हुवे श्रमिको ने एस डी एम कार्यालय की ओर रुख करते हुवे ज्ञापन के माध्यम से न्याय की मांग की है।

श्रमिकों ने अपनी बात रखते हुवे कहा की ग्रेसिम उद्योग लॉक डाऊन की आड़ में सविदा श्रमिको की गर्दन काटने का कार्य कर रहा है पुरे देश में हजारों श्रमिकों का मरण हो रहा है किन्तु हमारी पीड़ा सुनने वाला कोई नही। वही श्रमिको का कहना है की मरने से अच्छा है कूछ तो करे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!