पूर्व कलेक्टर ओ पी चौधरी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर लगाया छत्तीसगढ़ महतारी बेचने का आरोप

Spread the love

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़ // उत्सव वैश्य : 9827482822

ओपी के मार्मिक अपील मत बेचा छग महतारी ला

छग के कद्दावर भाजपा नेता ओपी चौधरी ने सरकारी जमीन बेचने के मामले में भूपेश सरकार को भावनात्मक तरिके से घेरा है l सोशल मंच के जरिये ओपी ने अपनी बात करते रखते हुए कहा कि यदि किसी किसान की जान भी चली जाती है तो वह अपनी जमीन को नही बेचता क्योकि जमीन किसान बंधुओ के लिये माँ समान है l भूपेश जी आप खुद को किसान का बेटा मानते हो तो छग महतारी के सरकारी जमीन की बोली क्यो लगवा रहे हो l सरकारी ज़मीन बेचने के मामले को उन्होंने माँ के साथ धोखाधड़ी बताया l ओपी ने इस मुद्दे पर भूपेश सरकार को भावनात्मक तरिके से घेरने की सियासी कोशिश की है l छग में किसान सर्वाधिक आबादी किसान बंधुओ की है और खेती यहाँ का मुख्य व्यवसाय है l छतीशगढ़ किसान धरती को माँ मानकर पूजा भी करते है l किसान बंधुओ के लिए यह धरती रत्न गर्भा की है l कई किसान ऐसे है जो पीढ़ी दर पीढ़ी खेती कर रहे कैसी भी विपरीत परिस्थितियां आई किसानों ने अपनी पुश्तैनी जमीन नही बेची l भुपेश सरकार ने सरकारी जमीनों को नीलामी करने का आदेश जारी किया है अमूमन सरकारी जमीन बेचने के पीछे सरकार की मंशा यह है कि कब्जे में पड़ी सरकारी जमीनों को या तो मुक्त करा लिया जाए या फिर उनके दाम वसूल लिए जाए l दरअसल ओपी सरकारी जमीन बेचने के मामले को उठाकर सरकार के खाली होते खजाने की ओर भी इशारा करना चाहते है l वे सरकार को असफल बताने की हर संभव कोशिश में जुटे है l सरकारी जमीनों की नीलामी पूरे प्रदेश स्तर पर की जा रही है l हाल में ही रायगढ़ में भी सरकारी जमीन की नीलामी की गई l राजधानी रायपुर में भी सरकारी जमीन बेचने की तैयारी जोरों पर पर है l राजधानी में 400 लोगो ने आवेदन लगाए थे जिसमें सरकार ने 400 अर्जियां खारिज कर दी l राजधानी में अनुमानित 69 लाख 77 हजार 336 वर्ग फ़ीट सरकारी जमीन खाली है वही 12 लाख 51 हजार वर्ग फ़ीट सरकारी जमीन पर कब्जा है l कोमोबेश यही स्थिति बिलासपुर कोरबा रायगढ़ व अम्बिकापुर में भी है l सरकारी जमीन को बचाने जमीन सबंधी कानून है वही कब्जा करने संबंधी कानून भी बनाया गया है वही सरकारी जमीन और कब्जा करने पर सजा का प्रावधान भी है l भूमि अतिक्रमण कानून के जरिये सरकारी जमीन पर कब्जा रोकने के प्रयास भी जारी है l बरहाल भुपेश सरकार जमीन को मुक्त कराकर एवं बेचकर येन केन प्रकारेण खाली पड़े खजाने को भरने के लिए प्रयासरत है वही दूसरी ओर ओपी भुपेश सरकार द्वारा जमीन बेचने के कदम को छग महतारी का सौदा किये जाने का कदम निरूपित कर रही है l छग में ओपी भुपेश सरकार की वादाखिलाफी को लेकर लागातार मुखर है l वे सरकार को गुलाटी मारने वाली तो कभी भौरा चलाने वाली सरकार बता रहे है l


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!