कांग्रेस नेता जगदीश मालवीय ने अपने उपर पूर्व विधायक द्वारा झूठा प्रकरण दर्ज कराने पर जांच हेतु दिया ज्ञापन।

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ उज्जैन, नागदा // विष्णु शर्मा : 8305895567

केन्द्रीय मंत्री एवं पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा की मांग।

नागदा-कांग्रेस नगर महामंत्री जगदीश मालवीय ने केन्द्रीय मंत्री श्री थावरचंद जी गेहलोत को अपनी व अपने परिवार की जान माल की सुरक्षा हेतु पत्र लिखा है एवं पूर्व विधायक दिलीपसिंह शेखावत पर सामंतशाही नीतियो के चलते अनु.वर्ग पर अत्याचार करने का आरोप लगाया है जिसके संबंध में एक ज्ञापन श्रीमान् जिला पुलिस अधिक्षक महोदय, थाना प्रभारी महोदय एवं अनु.जाति थाने में उनके खिलाफ दर्ज झूठे प्रकरण की जांच हेतु दिया है तथा उसके एवं उसके परिवार की जान की सुरक्षा की मांग की है।

मालवीय ने आवेदन में बताया कि समाचार पत्रो द्वारा ज्ञात हुआ है कि मेरे विरुद्ध झूठी जानकारी के आधार पर बिना किसी सबूत के अपराधिक प्रकरण दर्ज किया है। पुलीस विभाग के पास आय टी सेल मे अत्याधुनिक संयत्र उपलब्ध है। मालवीय ने उक्त झूठी सूचना का प्रमाणीकरण करने की मांग की है। मैं अनुसूचित जाति का युवक हँू व थाना प्रभारी और आवेदक ने मिलकर मुझे प्रताडित करने के लिये झूठा प्रकरण दर्ज किया है। जो कि अनु. जाति अत्याचार निवारण अधि. के अन्तगत गंभीर अपराध होता है।

आगे यह भी मांग की है कि बिरलाग्राम पुलीस द्वारा भादवि कि धारा ४५८ कि जगह ४५२ का प्रकरण दर्ज किया गया एवं मंडी पुलीस द्वारा धारा ३२४ कि जगह ३०७ का प्रकरण दर्ज किया । बिरलाग्राम मे जांच कर आरोपियो के नाम भी सम्मिलित नही किये और नही गिरफ्तारी की। जबकि मंडी पुलीस द्वारा मेरे विरुद्ध तुरंत प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की गई । जो कि पूर्व विधायक दिलीप शेखावत कि सामंतशाही नितियो के चलते सत्ता पक्ष का दुरुपयोग कर अनुसूचित जाति का नागरिक होने से पुलीस पर दबाव बनाकर प्रताडित किया गया है जो कि अनु. जाति अत्याचार निवारण अधि. के अन्तगत गम्भीर अपराध है। सोश्यल मिडीया पर नियमानुरूप किसी भी विषय में पोस्ट डालना मेरा मौलिक अधिकार है। इस पर दबाव बनाना मेरे मौलिक अधिकारो का हनन है।

श्री मालवीय ने आगे बताया कि पूर्व विधायक दिलीप शेखावत की सामंतशाही नितियो के चलते मेरे परिवार और मेरी सुरक्षा पर भारी खतरा पैदा हो गया । किसी भी समय मुझे गंभीर प्रकरणो मे दिलीप शेखावत के इशारे पर झूठा फसाया जा सकता है अथवा मेरी हत्या भी करवाई जा सकती है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!