एटीएम फ्रॉड रोकने के लिए एसबीआई ने शुरू की नई सर्विस; ट्रांजेक्शन आप कर रहे हैं या कोई और? अलर्ट एसएमएस आएगा

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

 

कोरोनावायरस और लॉकडाउन के चलते एटीएम से जुड़ी धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढ रहे हैं। ऐसे में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने ग्राहकों की जमा पूंजी की सुरक्षा और सेफ ट्रांजेक्शन के लिए एक नई सुविधा शुरू की है। नई सर्विस के तहत अगर आप एटीएम में जाते हैं और अपना बैलेंस या मिनी स्टेटमेंट चेक करना चाहते हैं तो एसबीआई आपको एसएमएस भेजकर अलर्ट करेगा। बैंक ने ट्विटर हैंडल पर कहा कि वह ग्राहकों को एटीएम फ्रॉड से बचाने के लिए एक नए फीचर की पेशकश कर रहा है।

एसबीआई ने अपने ट्वीट में कहा है कि अब जब भी ग्राहक एटीएम से बैलेंस इंक्वायरी या मिनी स्टेटमेंट चेक करेगा, तो एसबीआई उस डेबिट/एटीएम कार्ड से संबंधित ग्राहक को एसएमएस भेजकर अलर्ट करेगा। ऐसा इसलिए ताकि यह कन्फर्म किया जा सके कि ट्रांजेक्शन ग्राहक कर रहा है या उसके डेबिट कार्ड से कोई और। अगर ट्रांजेक्शन कोई और कर रहा है तो बैंक के एसएमएस से ग्राहक को ट्रांजेक्शन की सूचना मिलने पर वह तुरंत अपना डेबिट कार्ड ब्लॉक करा सकेगा। बैंक ने अपने ग्राहकों को सतर्क रहने को कहा है। साथ ही यह भी कहा गया है कि इंक्वायरी या मिनी-स्टेटमेंट से संबंधित एसएमएस अलर्ट को बिल्कुल भी नजरअंदाज ना करें।

 

एसबीआई क्विक ऐप के जरिए मिस्ड कॉल से चेक करें अपना बैलेंस

भारतीय स्टेट बैंक अकाउंट होल्डर्स अपने एसबीआई क्विक ऐप के जरिए अपने अकाउंट का बैलेंस चेक कर सकते हैं। इस ऐप के साथ, एसबीआई ग्राहकों को इंस्टेंट अकाउंट बैलेंस, मिनी स्टेटमेंट मिल सकता है। उन्हें केवल एक मिस्ड कॉल देना होगा या एसबीआई बैलेंस पूछताछ टोल फ्री नंबर – 9223766666 पर अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर से एक SMS भेजना होगा, कुछ ही सेकंड में, वे अपने फोन पर बैलेंस डिटेल्स प्राप्त करेंगे। इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए, एसबीआई ग्राहकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका मोबाइल नंबर बैंक के पास रजिस्टर है या नहीं।

एसबीआई के 44 करोड़ खाताधारकों को राहत

हाल ही में एसबीआई ने खाताधारकों को राहत देते हुए कुछ शुल्क खत्म किए थे। इनमें एसएमएस अलर्ट और न्यूनतम बैलेंस शामिल हैं। एसबीआई के 44 करोड़ से अधिक बचत खाताधारकों को ये सुविधा मिलेगी। अब ग्राहकों से एसएमएस अलर्ट और न्यूनतम बैलेंस के चार्ज नहीं वसूले जाते हैं। यह सेवा मुफ्त हो गई है। साथ ही बैंक ने यह भी कहा कि अनावश्यक एप्स से छुटकारा पाने के लिए #YONOSBI डाउनलोड करें। यानी बैंक ने ग्राहक के खाते से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बैकिंग सर्विस मैसेज के लिए लगने वाले चार्ज को खत्म कर दिया है। अब इसके लिए ग्राहक को कोई चार्ज नहीं देना होगा।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!