प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी यूँ ही नहीं कहलाते है ५६”, सच्ची देशभक्ति और राष्ट्रसेवा देखने को मिली आज। जब वो पाई पाई का हिसाब देते हुए, जब पीएम केअर्स फंड की जानकारी पहली बार सार्वजनिक की पीएमओ ने, और इसके ऑडिट की रिपोर्ट के साथ साथ इस फंड में पूर्व-पश्चिम-उत्तर-दक्षिण के लोगों ने शुरू से ही जमकर दान किया नमो नमो

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

मुंबई // गुणवंत सिंह बघेल : 9967086023

 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी यूँ ही नहीं कहलाते है ५६”, सच्ची देशभक्ति और राष्ट्रसेवा देखने को मिली आज। जब वो पाई पाई का हिसाब देते हुए, जब पीएम केअर्स फंड की जानकारी पहली बार सार्वजनिक की पीएमओ ने, और इसके ऑडिट की रिपोर्ट के साथ साथ इस फंड में पूर्व-पश्चिम-उत्तर-दक्षिण के लोगों ने शुरू से ही जमकर दान किया नमो नमो

नई दिल्ली २ सितंबर २०२० को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी जब देशवासियों से अपील की प्रधानसेवक बनके की, इस कोरोनाकाल के संकट में आप सभी आगे आये और कोरोना से पीड़ित लोगों की मदद करे। श्री मोदी जी की ये पुकार को भारतवर्ष की जनता ने दिल से तिजोरी खोलके पीएम केयर्स के शुरुवात के ५ दिन में रुपए ३,०७६ करोड़ की रकम से झोली भर दी , उसके बाद २७ मार्च २०२० को २.२५ लाख रुपए की रकम से शुरुवात में कोरोना महामारी से निपटने के लिए पीएम केयर्स फंड की स्थापना की गई। इसके बाद श्री मोदी जी की अपील के बाद लोगों आने अपनी स्वेछा से इस फंड में ३१ मार्च २०२० तक, इसकी रिपोर्ट अनुसार पीएम केयर्स फण्ड में रुपए ३,०७५.८ करोड़ का सहयोग दिए।

पुरे भारतवर्ष के लोगों ने दान दिए, चाहे वो पूर्व से पश्चिम या उत्तर से दक्षिण तक के लोगों ने दिल से अपनी सहूलियत अनुसार रुपए की मदद की. जिससे पीएम केयर्स फण्ड में करोड़ो करोड़ो रकम इकठ्ठा हो गई, कोरोना पीड़ितों के लिए ये फण्ड बनाया गया था। पीएम केअर्स फंड की जानकारी पहली बार सार्वजनिक पीएमओ ने जारी की है, इसके ऑडिट की रिपोर्ट इस पीमएम केयर्स फंड में लोगों ने शुरू में ही जमकर दान किया।

२०१९-२०२० के वित्तवर्ष की पहली ऑडिट रिपोर्ट से पता चला की , पीएम केयर्स फंड में जमा और भुगतान की पूरी जानकारी प्राप्त हुई। जैसा की मालूम है की , इस फंड को २७ मार्च २०२० को कोरोनाकाल से पीड़ितों के लिए ये फंड बनाया गया था। इसकी शुरुवात रुपए २.२५ लाख से हुई थी। इसके बाद देखते देखते पुरे भारतवर्ष के लोगों ने ३१ मार्च २०२० तक शुरू के ५ दिन में ही रुपए ३,०७५.८ करोड़ दिल से अपनी तिजोरी खोलके दान दिए। उसके बाद २०२१ वित्तवर्ष इस साल समाप्त होने के बाद इसकी रिपोर्ट आ सकती है , और नाही ये जानकारी प्राप्त हो पाई की किस व्यक्ति ने कितना रुपए दान दिए है. ये जानकारी नहीं दी गई।

इसके बाद कांग्रेस के पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम जी ने पीएमओ की जो ऑडिट रिपोर्ट आई थी , उसपे सवाल उठाये थे। की सरकार क्यों डर रही है, उन लोगों के नाम बताने में, जिन लोगों ने इस फंड में दान दिए। क्यूंकि सभी एनजीओ हो या ट्रस्टी एक लिमिट से अधिक रकम दान देते है , तो उन सभी दान कर्ताओं के नाम उजागर करने के लिए बाध्य है। इसी की देखते ये बताये की पीएम केयर्स फंड को किसलिए छूट मिली हुई है अपने ट्वीट के माध्यम से कहे।

https://twitter.com/PChidambaram_IN/status/1301019316276457472

ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार पीएम केयर्स फंड में ३१ मार्च २०२० तक रुपए ३९.६ लाख का विदेशी चंदा भी प्राप्त हुआ है , यही नहीं शुरू के ५ दिन में भारतवर्ष के लोगों ने भी रुपए ३५.३ लाख मिला। साथ साथ विदेशी चंदे से रुपए ५७५ का इंटरेस्ट भी प्राप्त हुआ है, और यदि विदेशी चंदे का सर्विस टेक्स भी काट लिया जाए तो उसके बाद पीएम केयर्स फंड में कुल रुपए ३,०७५.६ करोड़ होती है।

पीएम केयर्स फंड की औडिटिंग सार्क (SARC) ऐंड एसोसिएट चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के द्वारा की गई थी , इसमें पीएमओ के चार (४) अधिकारियों के सिग्नेचर भी है। सिग्नेचर करने वालो अधिकारियों के नाम में सेक्शन ऑफिसर प्रवेश कुमार, सेक्शन ऑफिसर प्रवेश कुमार, उप सचिव हार्दिक शाह, अवर सचिव प्रदीप कुमार श्रीवास्तव थे, जिन्होंने इस फार्म की ऑडिटिंग की थी।

जब से फंड बना है तबसे ही राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के साथ सभी विपक्षी पार्टिया इसकी पारदर्शिता पे सवाल उठाते आये है, और जबरदस्त आलोचना करते रहे है की। जब आपदा के लिए प्रधानमंत्री रहत कोष बना हुआ है तो पीएम केयर्स फंड बनाने की क्यों जरूरत पड़ी।

भारत का विपक्ष सिर्फ सिर्फ सवाल उठता रहता है , कभी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की तारीफ करने में पता नहीं क्यों कंजूसी करता आया है मुहं से एक शब्द नहीं निकलता पीएम के लिए। जबकि आज भारत ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स 2020 में भारत शीर्ष 50 देशों में स्थान पर रहा है , जो भारत के विपक्ष के साथ साथ पुरे भारतवर्ष के लिए गर्व की बात है.

की जो नहीं हुआ ६७-७० सालों में वो हो रहा है ५-६ सालों में इसलिए लोग कहते है देश से विदेश तक “मोदीजी है तो मुमकिन है है”

India ranked in top 50 nations in the Global Innovation Index 2020

भारतमाता के इस पुत्र की किसी की नजर ना लगे, और लम्बी उम्र के साथ साथ स्वस्थ हमेशा अच्छा बने रहे। मातारानी से यही प्राथना करते है भारतवर्ष के लोग। साथ साथ श्री नरेंद्र मोदी जी के माताजी पिताजी को भी वंदन करता करता हूँ की इतना होनहार शक्तिशाली ईमानदार कर्मठ इंसानियत से भरपूर सवेंदना लोगों के प्रति जितना कहा लिखा जाए उतना कम है। भारतमाता की जय वंदे मातरम


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!