पत्‍नी को आत्‍महत्‍या के लिये दुष्‍प्रेरित करने वाले,अभियुक्‍त का जमानतआवेदन-पत्र निरस्‍त

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ पन्ना // पुण्य प्रताप सिंह परमार : 9425167855

 

पन्‍ना। कार्यालय-जिला लोक अभियोजन अधिकारी,जिला-पन्‍ना के मीडिया सेल प्रभारी, श्री ऋषिकांत द्विवेदी के द्वारा बताया गया कि,न्‍यायालय श्रीमान न्‍यायिक मजिट्रेट प्रथम श्रेणी पन्‍ना, श्री प्रियंक भारद्वाज द्वारा वीडियो कान्‍फ्रेसिंग से सुनवाई करते हुये, पत्‍नी को आत्‍महत्‍या के लिये उत्‍प्रेरित करने वाले आरोपी-रामलाल चौधरी पिता पोला चौधरी,उम्र-35 वर्ष,निवासी ग्राम लुहरगांव,थाना-गुनौर,जिला-पन्‍ना का जमानत आवेदन-पत्र निरस्‍त किया गया है, न्‍यायालय में अभियोजन की ओर से पैरवी, श्री कपिल व्‍यास, सहा.जि.लो.अभि.अधिकारी पन्‍ना के द्वारा की गई है।

अभियोजन के अनुसार फरियादी द्वारा थाना-गुनौर में इस आशय की रिपोर्ट दर्ज हुई कि, दिनांक 11.02.2020 को फरियादी के रिहायशी मकान ग्राम लुहरगाव में करीब 21.46 बजे श्रीमती सियाबाई पत्नि रामलाल चौधरी,उम्र-33 वर्ष निवासी-लुहरगाव,थाना-गुनौर,जिला-पन्‍ना के द्वारा अपने पति अभियुक्‍त रामलाल चौधरी से प्रताडित होकर अपने घर पर कंडा-लकडी वाले कमरे में लोहे के एंगल से रस्‍सी बांधकर फांसी लगाकर आत्‍महत्‍या कर ली। विवेचना दौरान मृतिका के माता-पिता एवं बहिन से पूछतांछ करने पर अभियुक्‍त रामलाल, द्वारा पत्‍नी मृतिका सियाबाई के साथ मारपीट कर प्रताडित करने की पुष्टि किये जाने पर थाना-गुनौर द्वारा अपराध क्र.251/2020,धारा 306 भा.द.सं. का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

विवेचना के दौरान रामलाल चौधरी को गिरफ्तार कर माननीय न्‍यायिक मजिस्‍ट्रेट प्रथम श्रेणी पन्‍ना के समक्ष प्रस्‍तुत किया गया।अभियुक्‍त के अधिवक्‍ता द्वारा रंजिशन फसाये जाने का आधार बनाते हुये जमानत आवेदन पत्र प्रस्‍तुत किया गया।जिस पर सहा.जिला लोक अभियोजन अधिकारी,श्री कपिल व्‍यास द्वारा प्रकरण में संकलित साक्ष्‍य के आधार पर अभियुक्‍त के विरूद्ध अभियोग का सुदृढ आधार उपलब्‍ध होने के कारण,ऐसे गंभीर मामले में अभियुक्‍त को जमानत न दिये जाने का निवेदन किया गया जिससे सहमत होते हुये माननीय न्‍यायालय ने आरोपी का जमानत आवेदन निरस्‍त कर उसे जेल भेज दिया।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!