जम्मू कश्मीर के लोगों के आये अच्छे दिन ,जो नहीं हुआ ६७-७० सालों में वो हो रहा है ५-६ सालो , ५ लाख का वार्षिक स्वास्थ्य बीमा – आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की घोषणा हुई।

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

मुंबई // गुणवंत सिंह बघेल : 9967086023

 

जम्मू कश्मीर के लोगों के आये अच्छे दिन ,जो नहीं हुआ ६७-७० सालों में वो हो रहा है ५-६ सालो , ५ लाख का वार्षिक स्वास्थ्य बीमा – आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की घोषणा हुई।

मोदियुग में जम्मू कश्मीर के लोगों के अच्छे दिन आ गए , पिछले ५-६ वर्षों से एक एक करके जम्मू कश्मीर के हालत और वहां की परिस्थिति को देखते हुए सभी के साथ अपनापन- प्रेम- भाईचारा- एकता की मिसाल पेश करते हुए. भारत सरकार द्वारा वहां के रहवासियों के लिए आज खुशखबरी लेकर आई , की जम्मू कश्मीर के लोगों का स्वास्थ्य बीमा होगा। वो भी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के साथ सार्वभौमिक बीमा कवरेज सुनिश्चित करेगी।

 

आयुष्मान स्वास्थ्य योजना जामु कश्मीर के लोगों के जीवन का ध्यान रखते हुए , उनके दिल की बीमारी हो या गुर्दें में खराबी हो या कैंसर के साथ अन्य भयानक बीमारी से उनकी रक्षा करेगी।

जम्मू कश्मीर में लेफ्टिनेंट गवर्नर श्री मनोज सिन्हा जी ने ये स्वास्थ्य योजना की घोषणा की , इस योजना का सिर्फ ये उदेश्य है की , जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के वार्षिक १२३ करोड़ रुपए लागत से वहा के निवासियों को ये सार्वभौमिक स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करना है।

जम्मू कश्मीर में लेफ्टिनेंट गवर्नर श्री मनोज सिन्हा जी ने इस स्वास्थ्य योजना के लांचिंग के समय कहे की , सरकार का मुंख्य अजेंडा कलयाणकारी के साथ साथ ये भी सुनिश्चित करेगा की। सभी कार्य करने वालो में सुधार हो , और प्रत्येक प्रत्येक व्यक्ति हर निवासी के साथ साथ कोई भी उपेक्षित वर्गों वालीं को परेशानी मुक्त करने तरीके से होंगे। जीवन के समग्र मानक में सुधार के प्रयासों का एक हिस्सा है।

 

जम्मू कश्मीर में लेफ्टिनेंट गवर्नर श्री मनोज सिन्हा जी ने विस्तार से इस योजना की खूबियां बताई की ये क्यों विशेष है , ये स्वास्थ्य बीमा का कवर जम्मू कश्मीर के उन रहवासियों को मिलेगा। जो वर्तमान समय में AB-PMJAY या आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत नहीं आते हैं ये उन लोगों के लाभदायक होगा।

जम्मू कश्मीर में वित्तीय आयुक्त स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा श्री अटल ड्लु जी ने कहा की , इस योजना का फायदा जम्मू कश्मीर सभी सरकारी सेवाओं के कर्मचारी और जो सरकारी नौकरी से रिटायर्ड हो चुके उन सभी कर्मचारियों को भी मिलेगा इसका लाभ।

आयुष्मान भारत जन आरोग्य स्वास्थ्य योजना सभी को सामान लाभ होगा , फ्लोटर बेसिस पे सभी रहवासियों के बीमा कवर ५ लाख वार्षिक प्रति परिवार का होगा।

आगे बात रखते हुए उन्होंने कहा की , इस स्वास्थ्य योजना से ५.९७ लाख से अधिक परिवार और लगभग १५ लाख परिवारों को कवर करेगा। और जो AB-PMJAY के अंतर्गत आते होंगे। इसके अलावा AB-PMJAY जो भी इसमें पहले से स्वीकृत १५९२ मेडिकल पैकेज भी साथ साथ जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए स्वास्थ्य योजना का लाभ भी मिलता रहेगा।

जम्मू कश्मीर में वित्तीय आयुक्त स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा श्री अटल ड्लु जी ने आगे कहा की , कैंसर , किडनी और कोविड -१९ जैसी भयानक बीमारी जिससे जीवन भी ले लेती है। तो ये सभी बीमारी इसके अंतर्गत शामिल होंगी, इसके साथ साथ “ऑन्कोलॉजी, कार्डियोलॉजी, नेफ्रोलॉजी बीमारी को भी उच्च उपचारों के लिए पहले दिन से ही कवर किया जायेगा।

इसके अलावा प्रत्येक परिवार कितना बड़ा है , या कितनी उम्र है। इसमें किसी भी प्रकार प्रतिबंध नहीं होगा , जो भी योजना पहले से चल रही है। उन चिकित्सा शर्तों को इस योजना में कवर किया जायेगा , और इलाज के ३ दिन पहले और अस्पताल भर्ती होने के १५ दिन का देखभाल और दवाई का खर्चा शामिल होगा।

जम्मू कश्मीर में वित्तीय आयुक्त स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा श्री अटल ड्लु जी ने ये भी बताये की , वर्तमान में पुरे भारतवर्ष में २३००० अस्पताल है. जो इस योजना को सम्मानित करती है , इसके साथ साथ पुरे जम्मू कश्मीर सरकारी और प्राइवेट २१८ अस्पताल शामिल है ये पहले से कार्य कर रहे है।

जल्द ही स्वास्थ्य विभाग इस योजना का लाभ ले सके उनके लिए गोल्डन कार्ड (ई-कार्ड) देने के लिए पंजीकरण करने का अभियान चालू करेगी।

आगे कहा की सामाजिक-आर्थिक जाति की जनगणना (SECC) २०११ के आंकड़ों का उपयोग इस योजना को परिवार की पहचान के लिए किया जायेगा , क्यूंकि SECC २०११ जो किसी भी अभाव से पीड़ित हो उनकी पहचान को परिभाषित करेगा जो परिवार पहले से ही AB-PMJAY के अंतर्गत आते होंगे।

जबकि जम्मू कश्मीर में स्वास्थ्य योजना के तहत जो भी परिवार किसी भी अभाव से पीड़ित नहीं होंगे , उनको भी इसका लाभ मिलेगा और कवर किया जायेगा। यदि SECC २०११ में कोई भी परिवार का डाटा नहीं मिलता है , तो उनका डाटा भी शामिल करने की प्रक्रिया की मंजूरी दे दी गई है।

 

आगे कहे की जम्मू कश्मीर स्वास्थ्य योजना के तहत , पोर्टेबिलिटी विकल्प AB-PMJAY के अंतगत ही उपलब्ध होगी। जिससे लाभार्थी परिवार पुरे भारतवर्ष में AB-PMJAY के अंतर्गत उनकी सूचीबद्ध होगी जिससे उनकी देखभाल करने के लिए कैशलेस सेवा प्राप्त करने की भी अनुमति होगी।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!