नक्सली मुठभेड़ में मृत ग्रामीण को लेकर आदिवासी समुदाय में आक्रोश।

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ बालाघाट // वीरेंद्र श्रीवास : 83196 08778

 

बालाघाट के गढ़ी थाना क्षेत्र अंतर्गत बसपहरा के जंगल में पिछले 6 सितंबर को पुलिस और नक्सलियों के बीच कथित मुठभेड़ का मामला तूल पकड़ गया है । मामले में झामसिह धुर्वे बालसमुंद थाना झलमल जिला कवर्धा निवासी आदिवासी की मौत हो गई थी।

इस मामले में अब आदिवासी समाज में जमकर आक्रोश व्याप्त है और उन्होंने आज बालाघाट मुख्यालय में आदिवासी समुदाय के नेतृत्व में एक बड़ा प्रदर्शन करते हुए प्रशासन को ज्ञापन सौंपकर 15 दिवस के अंदर पुलिस अधीक्षक को हटाने एनकाउंटर करने वाली पुलिस पार्टी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने और एक करोड़ की मुआवजा राशि दिए जाने सहित अन्य मांग को लेकर समय दिया है। और इस 15 दिन की समय अवधि में मांगे पूरी ना होने पर प्रदेश सहित अंतर राज्य स्तर पर उग्र प्रदर्शन की चेतावनी दी गई।

वॉइस आवर.. बता दें कि इस प्रदर्शन में 5 विधायक शामिल हुए थे जिसमें बैहर सजय उईके. बरघाट के अर्जुन काकोडिया निवास के डॉक्टर अशोक मर्सकोले बिछिया के नारायण सिंह पट्टा और शाहपुरा के विधायक भूपेंद्र मरावी शामिल है।इन 5 विधायकों की मौजूदगी में आदिवासी समुदाय के ने सबसे पहले बैठक की और उसके बाद रैली के रुप मे कलेक्टेट के लिए निकले। जिन्हें पहले ही बेरीकेट्स लगाकर रोक दिया था। जहां अपनी मांगों को लेकर शासन से कार्रवाई की अपेक्षा कर ज्ञापन दिया गया।

जिसमें हाईकोर्ट के किसी सेवानिवृत्त जज की टीम द्वारा मामले की न्यायिक जाच की जाए। कांग्रेस के विधायक सजय उईके ने नक्सली एनकाउंटर को लेकर सवाल उठाते हुए कहा कि शासन जबरन आदिवासियों को नक्सलियों के नाम पर निशाना बना रही है । वहीं कलेक्टर ने कहा कि मामले में जाच की रही हैं। अब इनकी माग पत्र मिला है जिसे शासन को प्रेषित कर दिया जायेगा व शासन जो भी निर्णय करेगी


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!