भूमाफियाओं से आम जनता परेशान होकर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ ढीमरखेड़ा, जिला कटनी // रमेश कुमार पांडे : 6264045369

 

कटनी जिला- ढीमरखेड़ा तहसील क्षेत्र के अंतर्गत भू माफियाओं के खिलाफ ग्राम बम्होरी के ग्रामीणों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपाकर जानकारी दी गई की ग्राम पंचायत पिण्डरई के ग्राम बम्होरी का मामला प्रकाश में आया है की सरकारी जमीनों को कुछ दलाल अपने नाम पर दर्ज करवाकर भू माफिया को बेची दी जाती है। शासकीय भूमि पर आदिवासियों का 50 वर्षों से काबिज होकर खेती किसानी की जाती है एवं अपने परिवार का भरण-पोषण कर जीवन यापन करते आ रहे है।

 

आदिवासियों ने बताया कि हमारे पूर्वज इस जमीन पर 50 वर्षों से खेती कर रहे थे और इस जमीन के लिए आदिवासियों ने पट्टों की अनेकों बार प्रशासन से मांग की गई है। भू माफिया के दलालों व प्रशासनिक अधिकारियों की मिली भगत से आर आई पटवारी ने जमीनों का पट्टा बनाकर जमीन को बेचवा देना यह सिलसिला लगभग 35 वर्षो चल रहा क्योंकि जैसे भूमाफियाओं द्वारा जमीन पर कब्जा करने आते हैं तो आदिवासियों को जानकारी मिलते हि ग्रामीण आदिवासी शिकायत कर शासन प्रशासन से न्याय मांगने के लिए गुहार मचाई जाती है । यह लगभग 42 एकड़ जमीन का मामला है जो कि पूर्व में सरकारी जमीन के नाम पर दर्ज है।

ऐसा ही मामला कुछ दिनों पूर्व ग्राम पंचायत सागौन में देखने को मिला था उसी तरह का मामला एक बार फिर ग्राम पंचायत पिंडरई में नजर आया है ऐसे मामलों को देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि शासन प्रशासन के अधिकारियों कि सांठगांठ के बिना संभव नहीं है। भू माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि सरकारी जमीनों को अपने नाम पर दर्ज करवा कर अच्छे दाम मिलने पर बेच दी जाती है शासन प्रशासन के अधिकारी आंख कान बंद कर मौन बैठे हुए तमाशा देख रहे है अधिकारियों के साठ गांठ के बिना सरकारी जमीन के पट्टे कैसे बन सकते हैं यह सोचयनीय विषय है कि पट्टे वाली जमीन को किस वेश पर बेच दी जाती है और रजिस्ट्री भी हो जाती है। पूर्व में बैठे तहसीलदार राजस्व निरीक्षक हल्का पटवारियों के ऊपर प्रश्न चिन्ह नहीं लगा है ।

सांठगांठ किये विना यह कार कैसे संभव है अगर इस विषय को लेकर सही जांच हो जाए तो क्षेत्र की शासकीय जमीन अधिकतर भू माफियाओं के नाम पर दर्ज मिलेगी। भूमाफियाओं के विरूद्ध बजरंगी, सोमलता, खजूर लाल, बांकेलाल, रामनाथ, ज्ञान सिंह,रतीराम,राजू लाल, अर्जुन,रामभाई,गुन्नू, अशोक, धर्म आकाश,भूरा, गणेश, रतिराम,गुड्डी , पुरषोत्तम, सैकड़ों लोगों की उपस्थिति रही है।

अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ढीमरखेड़ा सपना त्रिपाठी का कहना है कि

जमीन की जांच करवाई जाएगी अगर भूमि पूर्व में सरकारी मद में थी तो उसे सरकारी मद पर ट्रांसफर किया जाएगा


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!