कोविड सेंटर निरीक्षण के लिए पहुंचे विधायक से लोगों ने की डिजीटल एक्स-रे मशीन की मांग

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल : 7509020406

 

मुलताई। मुलताई विधायक सुखदेव पांसे गुरूवार को कोविड केयर का निरीक्षण करने पहुंचे। विधायक से लोगों ने मांग की कि नगर के सरकारी अस्पताल में डिजीटल एक्स-रे मशीन नहीं है, जिसके कारण सभी को प्राईवेट अस्पतालों में जाकर एक्स-रे करवाना पड़ रहा है। इस पर पांसे ने जल्द ही डिजीटल एक्स-रे मशीन की व्यवस्था करने की बात कही।

कैबिनेट मंत्री रहते हुए जब पांसे अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे थे, तब भी उन्होंने सीएमएचओ से मुलताई अस्पताल में डिजीटल एक्स-रे मशीन देने के निर्देश दिए थे, लेकिन मशीन की व्यवस्था नहीं हो पाई, अब एक बार फिर से मशीन का मामला सामने आया है।
क्षेत्र के विधायक एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री सुखदेव पांसे ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ गुरूवार को कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण करने पहुुंचे। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए कि मरीजों को किसी भी प्रकार की असुविधा नहीं होनी चाहिए। वहीं कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए कोविड-केयर सेंटर मुलताई को सुधारने हेतु विधायक पांसे ने 2 लाख 75 हजार रुपए की राशि विधायक निधि से तत्काल प्रदान की। आरईएस एसडीओ को तत्काल आदेशित करते हुए कहा कि कॉविड केयर सेंटर में रंगाई-पुताई, मरम्मत का काम तत्काल शुरू कर कोविड केयर सेंटर का कायाकल्प किया जाए। नगर पालिका सीएमओ आरसी गव्हाड़ेे को सेंटर में सफाई व्यवस्था बनाने, बीएमओ को पल्लव अमृतफले को सेंटर में किसी भी चीज की कमी नहीं होने देने एवं लगातार मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण करने एवं यथा संभव मरीजों को अच्छे से अच्छा उपचार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। पांसे ने कहा कि मरीजों के इलाज में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। मरीजों को अच्छा एवं स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। श्री पांसे के साथ कांग्रेसी नेता सुमित शिवहरे, नितेश साहू सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

मंत्री रहते भी दिए थे डिजीटल एक्सरे मशीन प्रदान करने के आदेश

मुलताई विधायक सुखदेव पांसे जब कैबिनेट मंत्री थे, तब वह मुलताई के अस्पताल का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे। उपस्थित लोगों ने मंत्री पांसे को बताया था कि अस्पताल में डिजीटल एक्स-रे मशीन नहीं है। जिसके कारण सभी को परेशानी का सामना करना पड़ता है। तत्कालीन बीएमओ रजनीश शर्मा एवं सीएमएचओ को मंत्री ने आदेश दिए थे कि मशीन की डिमांड उनके पास भेजे, वह स्वास्थ्य विभाग के मंत्री से चर्चा कर मुलताई अस्पताल में मशीन की व्यवस्था करवाएंगे। हालाकि 15 महीने के कार्याकाल में मुलताई अस्पताल में मशीन नहीं पहुंच पाई। अब एक बार फिर डिजीटल एक्स-रे मशीन की मांग उठ रही है।

प्राइवेट अस्पताल में पांच सौ रुपए में हो रहे एक्स-रे

नगर के सरकारी अस्पताल में डिजीटल एक्स-रे मशीन नहीं होने से मरीजों को प्राइवेट अस्पताल संचालकों की शरण में जाना पड़ रहा है। यहां एक्स-रे के नाम पर मरीजों से पांच सौ रुपए वसूल किए जाते हैं। ऐसे में गरीब वर्ग के मरीज इतनी राशि से एक्स-रे नहीं करवा पाते और मजबूरन उन्हें सरकारी अस्पताल की पुरानी मशीन से ही एक्स-रे करवाकर अपना काम चलाना पड़ता है। मूलभूत सुविधाओं से वंचित नगर के सरकारी अस्पताल में आपरेशन थियेटर भी पिछले एक साल से बंद पड़ा हुआ है, वहीं डाक्टरों के कई पद खाली पड़े हैं और स्टाफ नर्स सहित अन्य स्टाफ की भी कमी बनी हुई है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!