शांति समिति की बैठक में जमकर हुआ हंगामा हिंदु धर्म के त्यौहारों को बदनाम करने पर फूटा लोगों का आक्रोश

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल : 7509020406

 

मुलताई। नगर के पुलिस थाने में रविवार को शांति समिति की बैठक में जमकर हंगामा हुआ, कुछ लोगों द्वारा हिंदु धर्म के त्यौहारों को लेकर जुआ चलाने के आरोप लगाने एवं त्यौहारों को बदनाम करने को लेकर उपस्थित लोगों ने जमकर हंगामा मचाया। लोगों ने पुलिस के सामने आरोप लगाया कि मुलताई में कई जगह जुआ चल रहा है और गली-गली अवैध शराब बेचने का काम हो रहा है, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है, लेकिन दुर्गा पंडालों में जुआ चलाने की बात का झूठा प्रचार कर त्यौहारों को बदनाम किया जा रहा है। इस पर एसडीओपी ने सभी को शांत करवाया और कहा कि जहां भी अवैध गतिविधियां संचालित होगी, वहां उचित कार्रवाई की जाएगी। 

रविवार को थाने में आयोजित शांति समिति की बैठक में दुर्गा पंडालों में जुआ चलाने की बात पर जमकर हंंगामा हुआ। पूर्व पार्षद उमेश झलिए ने बैठक में कहा कि मुलताई के 90 प्रतिशत दुर्गा पंडालों में जुआ चलाया जाता है और मंडल संचालकों द्वारा दुर्गा स्थापना का खर्च करने के बाद बची हुई राशि आपस में बांट ली जाती है। इस बात का विरोध दिनेश कालभोर, चिंटू खन्ना, किशोर परिहार, हनि भार्गव सहित अन्य उपस्थित लोगों ने पुरजोर तरीके से किया। उन्होंने कहा कि इस तरह हिंदुओं के त्यौहारों को बदनाम किया जा रहा है। अगर कहीं गलत गतिविधियां चलती है तो पुलिस कार्रवाई करें, लेकिन इस तरह से त्यौहारों के नाम पर गलत आरोप लगाकर झूठा प्रचार कर नवरात्र जैसे पावन पर्व को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है। दिनेश कालभोर ने कहा कि यदि पंडालों में जुआ चलता है तो इसकी लिखित शिकायत मंडल के नाम सहित करनी चाहिए, जिससे अन्य पंडाल बदनाम हो। हंगामा बढ़ता देख पूर्व पार्षद उमेश झलिए ने अपनी बात वापस ले ली। इधर एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने कहा कि पुलिस द्वारा इस तरह का आरोप नहीं लगाया गया है, शांति समिति की बैठक में उपस्थित लोगों में से ही कुछ लोगों द्वारा इस बात को उठाया गया था, यदि कही अवैध गतिविधियां संचालित होती है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

इस साल नहीं होगा रावण के पुतले का दहन

नगर में हर साल पंजाबी समाज द्वारा रावण के 51 फुट ऊंचे पुतले का दहन कार्यक्रम दशहरे पर एक्सीलेंस स्कूल मैदान पर किया जाता है, लेकिन इस साल कोरोना काल के चलते रावण का पुतला दहन कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। पंजाबी समाज समिति की ओर से शांति समिति की बैठक में उक्त जानकारी दी गई। जिसमें बताया गया कि कोरोना बीमारी के चलते इस साल रावण का पुतला दहन नहीं किया जाएगा। एक्सीलेंस स्कूल मैदान पर हर साल आयोजित होने वाले इस समारोह में हजारों की संख्या में लोग शामिल होते हैं।

पुरानी गाइड लाइन के हिसाब से दिए गए दिशा-निर्देश

दुर्गा उत्सव को लेकर हालाकि प्रदेश सरकार द्वारा नई गाइड लाइन जारी कर दी गई है, लेकिन शांति समिति की बैठक में अधिकारियों ने पुरानी गाइड लाइन के अनुसार दिशा-निर्देश दिए। बैठक में तहसीलदार सुधीर कुमार जैन, एसडीओपी नम्रता सोंधिया एवं टीआई एस सोलंकी उपस्थित थे। पुरानी गाइड लाइन को लेकर लोगों ने सवाल उठाएं और कहा कि अब प्रतिमाओं की ऊंचाई भी बढ़ाई जा सकती है और पंडाल का आकार भी बढ़ाया जा सकता है फिर क्यों पुरानी गाइड लाइन के अनुसार दिशा-निर्देश दिए जा रहे हैं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!