जय माता दी १७ ओक्टुबर २०२० से शारदीय नवरात्रि शुरू होने वाली है नौ दिनों में मातारानी की कृपा बरसेगी इन रंगों के कपड़े पहनकर मातारानी की पूजा करने से

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

मुंबई // गुणवंत सिंह बघेल : 9967086023

 

जय माता दी १७ ओक्टुबर २०२० से शारदीय नवरात्रि (मातारानी) शुरू होने वाली है नौ दिनों में मातारानी की कृपा बरसेगी इन रंगों के कपड़े पहनकर मातारानी की पूजा करने से

 

मातारानी जल्द आपके घर आनेवाली है करे माँ का स्वागत बड़े धूमधाम प्यार से और जाने इस शारदीय नवरात्री में नौ दिन में कौन से रंग वस्त्र पहने और मातारानी की आराधना करे जिससे सभी पर कृपा बरसे और ये नवरात्री सबके लिए खुशिया प्रेम अपनापन के साथ साथ माँ सभी की मनोकामना पूरी करे। मातारानी का आगवन होने जा रहा है शारदीय नवरात्री में जो १७ ओक्टुबर से शुरू हो रही है और नवरात्र के नौ दिन अलग अलग मातारानी के पूजा की जाती है।

शारदीय नवरात्री में बहुत से लोग व्रत रखते है कोई नौ दिन तो कोई पहले और आखिरी दिन व्रत रखते है और मातारानी से अपने और अपनों के लिए सुख समृद्धि की प्रार्थना करते है शारदीय नवरात्री में नौ दिन मातारानी का श्रृंगार बहुत ही खास तरीके से किया जाता है और नौ दिन मातारानी की पूजा अलग अलग वस्त्र पहनकर मातारानी की आराधना पूजा करता है तो बहुत ही शुभ के साथ साथ फलदायी होता है।

आईये आपको बताता हु की नवरात्रि के नौ दिनों में किस दिन कौन से रंग का वस्त्र पहनना शुभ के साथ साथ फलदायी होगा।

1. मां शैलपुत्री

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा होती इस दिन कलश की स्थापना और पूजन किया जाता है। अगर इस दिन पूजा करने वाला उपासक लाल, गुलाबी या फिर गहरे गुलाबी रंग का कपड़ा पहनकर पूजा करेगा तो वो शुभ फलदायी होता है।

2. देवी ब्रह्मचारिणी
नवरात्रि के दूसरे दिन मां दुर्गा के स्वरूप देवी ब्रह्मचारिणी की आराधना की जाती है। इस दिन सफेद, क्रीम या फिर पीले रंग के वस्त्र पहकर पूजा करना फलदायी होता है। इसके साथ ही सभी मनोरथ पूरे भी होते हैं।

3. मां चंद्रघंटा
नवरात्रि के तीसरे दिन मां च्रंद्रघंटा की उपासना की जाती है। मां चंद्रघंटा बाघ पर सवार दुर्गा जी का ही तीसरा स्वरूप हैं। इस दिन पीला, लाल, दूधिया फिर केसरिया रंग का वस्त्र पहनना चाहिए। कहा जाता है ऐसा करने पर मां प्रसन्न हो जाती हैं और चिरायु, आरोग्य और सुखी होने का आशीर्वाद देती हैं।

4. देवी कूष्मांडा
नवरात्रि के चौथे दिन मां कूष्मांडा की आराधना की जाती है। मां कूष्मांडा को प्रकृति की देवी कहा जाता है। इसीलिए इस दिन क्रीम, पीला, हरा और भूरे रंग का वस्त्र पहनकर पूजा करना फलदायी होता है।

5. स्कंदमाता
नवरात्रि के पांचवें दिन देवी स्कंदमाता की आराधना की जाती है। स्कंदमाता की पूजा अर्चना सफेद, दूधिया, लाल या फिर हरे रंग के वस्त्र पहनकर करना शुभ फलदायी होता है। मां प्रसन्न होकर आरोग्य और ज्ञान की प्राप्ति का आशीर्वाद देती हैं।

6. मां कात्यायनी
नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की आराधना होती है। दुर्गा मां के इस स्वरूप को महिषासुर मर्दिनी भी कहा जाता है। इस दिन नारंगी, लाल, मेरून, गेरुआ या फिर मूंगा रंग के वस्त्र पहनकर पूजा करना चाहिए।

7. कालरात्रि
नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि की पूजा अर्चना की जाती है। इनकी पूजा में बैंगनी, ग्रे, नीला और आसमानी रंग शुभ माना जाता है। मां प्रसन्न होकर भक्तों को क्लेशों से दूर रहने का आशीर्वाद देती हैं।

8. महागौरी
नवरात्रि के आठवें दिन मां दुर्गा के स्वरूप महागौरी की अर्चना की जाती है। महागौरी को सुख शांति की देवी कहा जाता है। इनकी पूजा में केसरिया, नारंगी, गुलाबी या फिर लाल रंग का वस्त्र पहनना शुभ माना जाता है।

9. मां सिद्धिदात्री
नवरात्रि के नौवें दिन मां सिद्धिदात्री की आराधना की जाती है। इस दिन विधि विधान से पूजा करने वालों को लाल, गुलाबी, क्रीम, नारंगी वस्त्र पहनकर पूजा करना शुभ माना जाता है।

मातारानी इस शारदीय नवरात्र में अपने सभी उपासको की मनोकामना पूरी करे और देश और पुरे विश्व का कल्याण हो। चारो तरफ सुख शांति अपनापन हो।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!