प्राचीन ताप्ती मंदिर को ट्रस्ट में शामिल करने का लिया प्रस्ताव ताप्ती मंदिर की पारेगांव रोड स्थित भूमि का भी होगा सीमांकन

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ मुलताई, जिला बैतूल // राकेश अग्रवाल : 7509020406

 

मुलताई। मां ताप्ती ट्रस्ट की बैठक में सर्वसम्मति से प्राचीन ताप्ती मंदिर को ट्रस्ट में शामिल करने का प्रस्ताव मंगलवार लिया गया। इस दौरान मां ताप्ती मंदिर की पारेगांव मार्ग पर स्थित करोड़ों की जमीन का भी सीमांकन करने का प्रस्ताव लिया गया।

अधिकारियों सहित ट्रस्ट के सदस्यों की उपस्थिति में उक्त बैठक में अन्य महत्वपूर्ण प्रस्ताव भी लिए गए इसके साथ ही दान में आई राशि की भी गणना की गई। ताप्ती मंदिर ट्रस्ट के अजय यादव, महेश पाठक, राजू पाटनकर, चिन्टू खन्ना आदि ने बताया कि लंबे समय से प्राचीन ताप्ती मंदिर को ट्रस्ट में लेने की मांग की जा रही थी ताकि मंंदिर का प्रबंधन सहित रखरखाव बेहतर ढंग से हो सके। इसके लिए मंगलवार सभी सदस्यों की उपस्थिति में सर्वसम्मति से प्रस्ताव लिया गया।

ट्रस्ट के सदस्य चिन्टू खन्ना ने बताया कि ताप्ती मंदिर की बेशकीमती भूमि पारेगांव रोड पर स्थित है जिसका सीमांकन करना आवश्यक है ताकि यह पता चल सके कि आखिर कितनी भूमि है अथवा भूमि पर कहीं अतिक्रमण तो नही है। सदस्यों ने बताया कि जिस तरह मुख्य ताप्ती मंदिर को ट्रस्ट में शामिल करने से मंदिर के रखरखाव सहित व्यवस्थाएं बेहतर हो चुकी है उसी तरह प्राचीन ताप्ती मंदिर को भी ट्रस्ट में लेकर उसकी भी व्यवस्थाएं बनाई जाएगी ताकि दोनों ही मंदिरों का व्यवस्थित तौर पर रख-रखाव किया जा सके। विगत कई दिनों बाद ताप्ती मंदिर ट्रस्ट की आयोजित बैठक में सदस्यों ने विभिन्न सुझाव दिए।

छोटे तालाब के पास श्रद्धालुओं के वाहनों की पार्किंग व्यवस्था

ताप्ती मंदिर में दूर-दूर से तीर्थयात्री एवं श्रद्धालु दर्शनार्थ आते हैं लेकिन मंदिर के आसपास कहीं वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था नही होने से श्रद्धालुओं को भारी परेशानी उठाना पड़ता है। वाहनों की पार्किंग नही होने से कई बार श्रद्धालु कुछ ही समय में वापिस भी हो जाते हैं। समस्या के दृष्टिगत सर्वसम्मति से छोटे तालाब के पास सत्यनारायण मंदिर की भूमि पर पार्किंग स्थल बनाने का प्रस्ताव लिया गया जिसमें मंदिर के सर्वराकार से चर्चा कर पार्किंग स्थल बनाने का निर्णय लिया जाएगा। इसके अलावा गजानन मंदिर के सामने स्थित काप्लेक्स के पास स्थित भूमि पर भी दुपहिया वाहनों की पार्किंग कराने का प्रस्ताव लिया गया।

प्रदक्षिणा मार्ग पर दो स्थानों पर बेरीकेट्स लगाने का सुझाव

मां ताप्ती प्रदक्षिणा मार्ग पर बेवजह वाहनों की आवाजाही होने से मंदिर के आसपास दर्शन करने आए श्रद्धालु परेशान होते हैं वहीं दुर्घटना की भी संभावना बनी रहती है। ट्रस्ट की बैठक में प्रदक्षिणा मार्ग पर ताप्ती मंदिर के पास एवं शनि मंदिर के पास बेरीकेट्स लगाने का सुझाव सदस्यों द्वारा दिया गया जिसे प्रस्ताव में शामिल किया गया। बताया जा रहा है कि तालाब एवं स्टेशन की ओर से बड़ी संख्या में दुपहिया वाहन मंदिरों के पास खड़े कर दिए जाते हैं जिससे प्रदक्षिणा करने वालों को भी परेशानी होती है वहीं कई बार किशोर एवं युवाओं द्वारा तेज रफ्तार से भी बाईक चलाकर लोगों को परेशान किया जाता है।

दान पेटी से निकले 1 लाख 21 हजार रूपए

कोरोना काल के बावजूद मंगलवार ताप्ती मंदिर में स्थित दान पेटी के खुलने पर कुल 1 लाख 21 हजार रूपए निकले हैं। जिसकी गणना ट्रस्ट के सदस्यों सहित नपाकर्मियों द्वारा की गई। इस दौरान कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर भी बंद रहे साथ ही श्रद्धालुओं का आवागमन भी सिमित रहा लेकिन इसके बावजूद दान पेटी में से बड़ी राशि निकली है। इसके अलावा ताप्ती मंदिर परिसर में प्रकाश व्यवस्था के लिए ट्रस्ट द्वारा लाईट खरीदने का भी प्रस्ताव लिया गया।

 

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!