रक्तदान बचा सकता है कई जिंदगियां- इसी सोच के साथ ब्लड डोनेशन कैंप लगवा मनाया अपना जन्मदिन।

Spread the love

ANI News india: http://aninewsindia.com

जिला ब्यूरो चीफ उज्जैन // विष्णु शर्मा : 8305895567

जन्मदिन के उपहार स्वरूप मित्रों ने किया रक्तदान

हिन्दू सेना के तहसील अध्यक्ष मनीष जी भुरट ने अपने जन्मदिन को थैलेसीमिया पीडि़त बच्चो एवं जरूरत मंद लोगो के लिए रक्त दान शिविर लगा कर मनाया. इस रक्तदान शिविर में उनके मित्र बड़े भाई सुनील जी गुर्जर और उनके सभी मित्रों ने सबसे पहले अपना रक्तदान किया।

मनीष जी भुरट ने बताया की समाज के प्रति सभी को जागरूक होना चाहिए और ख़ास कर समाज के सक्षम लोगो को बढ़-चढ़ कर रक्तदान और जरूरतमंदो की सहायता जैसे अनेको काम में अपने व अपने परिवार के जन्मदिन जैसे अवसर पर जरूर करना चाहिए। वहीं शिविर में संस्था के वरिष्ठ सदस्य सुधीर जी राठौर ने 41 वा रक्तदान कर मिशाल कायम की को सराहनीय है। रक्तदान करने वाले सभी लोगो को संजीवनी सेवा समिति एवं जिला चिकि्सालय उज्जैन की ओर से प्रशस्ति पत्र दिया गया। वहीं समाज में जागरूकता लाने एवं लोगो रक्तदान के लिए प्रेरित करने के लिए जागरूक भी किया गया।

संजीवनी सेवा जन कल्याण समिति नागदा की पूरी टीम का आभार सुनील जी गुर्जर हिन्दू सेना के संभागीय अध्यक्ष ने माना. टीम में रहे उपस्थित
सुनील जी भावसार, पप्पू सिसौदिया, सुधीर जी, रवि आंजना, सुशील जोशी, कुलदीप सिंह सोलंकी , अक्षय जोशी , किशन सिंह शेखावत, मधुबाला जी पोरवाल वहीं जिला चिकित्सालय उज्जैन से संगीता जी जोशी , साधना मैडम , सुनील जी साहू , मनोज जी कोठार की टीम उपस्थित रहीं।

वहीं संजीवनी सेवा समिति एवं जिला चिकित्सालय उज्जैन के द्वारा बताया गया कि रक्तदान स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है. रक्तदान से नए ब्लड सेल्स तेजी से बनते हैं। दरअसल रेड सेल्स की लाइफ 90 दिन ही होती है. रेड सेल बनने की प्रक्रिया सतत चलती रहती है. अत: रक्तदान करने से शरीर में रेड सेल की कोई कमी नहीं होती. साल में तीन से चार बार ब्लड डोनेट करने से रक्त में गाढ़ापन नहीं आता है। इससे हार्टअटैक और कोलेस्ट्रॉल जैसी कई समस्याओं में फायदा होता है. हमारे इस छोटे से प्रयास से किसी जरूरतमंद का जीवन बच सकता है. हमारे द्वारा डोनेट ब्लड दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिला, थैलेसीमिया और गंभीर रूप से बीमार लोगों का जीवन बचाने में मददगार होगा. इस शिविर का आयोजन हिन्दू सेना के तहसील अध्यक्ष मनीष जी भुरट ने अपने जन्मदिन के अवसर पर संजीवनी सेवा समिति नागदा के सहयोग से किया।

*दिल की सेहत में सुधार :*

रक्तदान करना आपके दिल की सेहत को सुधार सकता है और दिल की बीमारियों और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है. माना जाता है कि खून में आयरन की ज्यादा मात्रा दिल के दौरे के खतरे को बढ़ा सकती है. नियमित रूप से रक्तदान करने से आयरन की अतिरिक्त मात्रा नियंत्रित हो जाती है, जो दिल की सेहत के लिए अच्छी है।

रक्तदान करने से शरीर को होते हैं ये 6 फायदे, सुधरती है सेहत…

कई लोग रक्तदान करने से हिचकिचाते हैं, मगर विशेषज्ञों का कहना है कि रक्तदान करने से दिल की सेहत में सुधार होता है. साथ ही अन्य कई फायदे भी होते हैं.

कई लोग रक्तदान करने से हिचकिचाते हैं, मगर विशेषज्ञों का कहना है कि रक्तदान करने से दिल की सेहत में सुधार होता है. साथ ही अन्य कई फायदे भी होते हैं।

: हमेशा रहना चाहते हैं जवान तो नियमित तौर पर करें रक्तदान, और भी हैं कई फायदे

रक्तदान से रक्तदाता के शरीर और मन दोनों पर बहुत अच्छा प्रभाव भी पड़ता है। ‘रक्तदान, रक्तदाता के शरीर और मन दोनों पर बहुत अच्छा प्रभाव डालता है. दुख की बात यह है कि हम में से ज्यादातर लोगों को इन फायदों के बारे में पता नहीं है’.

: सुरक्षित रक्तदान बचा सकता है कई जिंदगियां, जानिए ब्लड डोनेट करना कितना है कारगर

18 से 60 साल की उम्र का कोई भी व्यक्ति रक्तदान कर सकता है. बस, इसके लिए जरूरी है कि वह स्वस्थ हो और कुछ मानकों को पूरा करता हो. अगर आपको कोई बीमारी है या आप कोई दवा ले रहे हैं तो बेहतर होगा कि रक्तदान से पहले अपने चिकित्सक से सलाह ले लें और रक्तदान के लिए हो रही जांच के समय पूरी जानकारी दें.

विशेषज्ञों का कहना है कि हीमोग्लोबिन का स्तर सही हो और सेहत के मानक पर खरे उतरने की स्थिति में महिलाएं भी रक्तदान कर सकती हैं. मगर मासिक धर्म, गर्भावस्था और स्तनपान की स्थिति में महिलाओं को रक्तदान से बचना चाहिए।

पूरी सावधानी से किया जाने वाला रक्तदान सुरक्षित होता है और किसी जरूरतमंद को आपकी तरफ से दिया जा सकने वाला सबसे अच्छा उपहार हो सकता है. और हां, यह भी जानने लायक बात है कि खून को प्लाज्मा, प्लेटलेट और लाल रक्त कोशिकाओं जैसे घटकों में तोड़ा जा सकता है. इनको अलग-अलग करके एक ही रक्तदान से तीन जिंदगियां बचाई जा सकती हैं।

*रक्तदान के फायदे :*
दिल की सेहत में सुधार : रक्तदान करना आपके दिल की सेहत को सुधार सकता है और दिल की बीमारियों और स्ट्रोक के खतरे को कम करता है. माना जाता है कि खून में आयरन की ज्यादा मात्रा दिल के दौरे के खतरे को बढ़ा सकती है. नियमित रूप से रक्तदान करने से आयरन की अतिरिक्त मात्रा नियंत्रित हो जाती है, जो दिल की सेहत के लिए अच्छी है। लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में वृद्धि : रक्तदान के बाद शरीर खून को पूरा करने के काम में लग जाता है. इससे शरीर की कोशिकाएं ज्यादा लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के लिए प्रेरित होती हैं, जो आपकी सेहत को सुधार सकता है और शरीर को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है।

*वजन नियंत्रण में सहायक :* रक्तदान कैलोरी जलाने और वजन को कम करने में मदद कर सकता है. लाल रक्त कोशिकाओं का स्तर अगले कुछ महीने में बराबर हो जाता है. इस बीच स्वस्थ डाइट और नियमित व्यायाम से वजन नियंत्रण में मदद मिलती है. हालांकि, रक्तदान को वजन कम करने का तरीका नहीं कहा जा सकता।

*कम होता है कैंसर का खतरा :* नियमित अंतराल पर रक्तदान से शरीर में आयरन की अधिकता होने से बचा सकते हैं. यह कुछ निश्चित प्रकार के कैंसर के खतरे को भी कम करता है।

बेहतर सेहत : नियमित रूप से रक्तदान शरीर की कोशिकाओं को प्रोत्साहित करता है, जिससे शरीर की फिटनेस सुधरती है और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद मिलती है. साथ ही रक्तदान के जरिये एक अच्छा काम करने की सोच, संतुष्टि भी देती है।

स्वास्थ्य जांच का मौका : सेहत को होने वाले इन फायदों के अलावा रक्तदान की प्रक्रिया में रक्तदान से पहले आपके खून और आपकी सेहत की निशुल्क जांच भी हो जाती है. खून की जांच करके हीमोग्लोबिन के स्तर का पता लगाया जाता है और कुछ संक्रमणों, बीमारियों की आशंका की भी जांच की जाती है. खून की जांच से यह पता लगाया जाता है कि व्यक्ति रक्तदान के लिए तैयार है या नहीं. इसलिए नियमित तौर पर रक्तदान से आप अपनी सेहत पर भी नजर बनाए रख सकते हैं।

मनीष जी भुरट के जन्म दिवस के अवसर पर उपहार स्वरूप मित्रों ने अपना रक्तदान किया जिसमें सुनील जी गुर्जर , मनीष भुरठ, विष्णु जी शर्मा, संदीप जालवाल, शिवा चौधरी, धर्मेश चौधरी, दीपक पांचाल, आशीष पांचाल ,रवि भुरठ, बंटी पहाड़िया, भंवर ठाकुर, सोनू खेरवार, राहुल माली, हिम्मत ठाकुर ,कमल पांचाल, अर्जुन जी,
आयूष सिंह रघुवंशी, पंकज भीलवाड़ीया, राजु साल्वी, रोहित मिश्रा, धर्मेंद्र सोनगरा, अर्जुन सोलंकी, विनोद शर्मा,किसन राघव,कमल चौधरी,निमाई जी डे,सुनील भाटिया आदि उपस्थित रहे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!