TRP मामले पर BARC का बड़ा फैसला, TRP पर लगाया रोक

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

विशेष संवाददाता

 

TRP को लेकर हो रहे विवाद के बीच ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल ने बड़ा फैसला किया है. BARC ने फिलहाल न्यूज चैनलों की साप्ताहिक रेटिंग्स पर रोक लगा दी है. TRP से छेड़छाड़ का मामला अभी अदालत में है. BARC ने 12 हफ्ते के लिए रेटिंग्स नही जारी करने का फैसला किया है. BARC ने प्रस्ताव दिया है कि उसकी तकनीकी समिति टीआरपी का डेटा मापने के वर्तमान सिस्टम का रिव्यू करेगी.

न्यूज चैनलों का टीआरपी घोटाला सामने आने के बाद टेलीविजन रेटिंग मापने वाली संस्था बार्क (BARC) ने बड़ा फैसला लिया है. बार्क ने अगले 12 हफ्तों (तीन महीने) के लिए TRP मापने पर रोक लगा दी है. यानी अगले 12 हफ्तों तक न्यूज चैनलों की TRP रेटिंग नहीं आएगी.

BARC ने मुंबई पुलिस द्वारा टीआरपी घोटाले के भंडाफोड़ के बाद यह कदम उठाया है. वहीं, न्यूज ब्रॉडकास्टिंग एसोसिएशन (एनबीए) ने बार्क के इस फैसले का स्वागत किया है. बार्क की तरफ से कहा गया है कि हिंदी, क्षेत्रीय, अंग्रेजी के साथ ही सभी बिजनेस चैनल भी उसके इस फैसले की जद में आएंगे. हालांकि, तकनीकी समिति की निगरानी में राज्य और भाषा के आधार पर दर्शकों की साप्ताहिक अनुमानित संख्या बताना जारी रखा जाएगा.

जरूरी था फैसला

BARC इंडिया बोर्ड के चेयरमैन पुनीत गोयनका ने कहा कि मौजूदा घटनाक्रम को देखते हुए यह फैसला लेना बेहद जरूरी हो गया था. बोर्ड का मानना है कि बार्क को अपने पहले से ही कड़े प्रोटोकॉल की समीक्षा करनी चाहिए और इस दिशा में सकारात्मक कदम उठाने चाहिए कि फर्जी टीआरपी जैसी घटनाएं फिर सामने न आएं. वहीं, BARC इंडिया के सीईओ सुनील लुल्ला ने कहा कि हम BARC में अपनी भूमिका को पूरी ईमानदारी और निष्ठा से निभाते हुए वही रिपोर्ट करते हैं, जो देश देखता है. हम ऐसे और विकल्प तलाश रहे हैं, जिससे इस तरह की गैर-कानूनी गतिविधियों पर पूरी तरह रोक लगाई जा सके.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!