बैतूल पुलिस का मीडिया नवाचार : जो पत्रकार पुलिस के खिलाफ लिखे वे हाथ कटवा दो….!!

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

बैतूल से रामकिशोर पंवार की रिपोर्ट

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

सारणी (बैतूल)। बैतूल जिले की पुलिस अपनी नामी और बदनामी को पचा नहीं पा रही है। रोज नए – नए नवाचारो को लेकर सुर्खियों में रहने वाली फिल्मी चकाचौंध से लौटी सुश्री सीमाला प्रसाद को अपनी एक फिल्म में निभाए अपने पत्रकार के रोल से इतनी नफरत को हो गई कि उन्होने पत्रकारो से दूरियां ही बढ़ा ली।

पहले तो पत्रकारो के सामने शेखी बघारने वाली सुश्री सीमाला प्रसाद ने अब पत्रकारो से बातचीत करना ही बंद कर दिया है। पत्रकारो के सीधे सवालो का आमना – सामना से बचने वाली पुलिस अधीक्षिका ने पत्रकारो की पुलिस के खिलाफ चलने वाली कलम को ही ठिकाने लगाने का काम शुरू कर दिया है। पहले झूठे मुकदमें दर्ज करवा कर उन्हे जिला जेल की चौखट तक ला खड़ा करने के बाद भी बैतूल जिले की पुलिस या पुलिस अधीक्षिका और उसकी देश भक्ति जनसेवा का चोला ओढ़े अपराधियों की संरक्षक बनी पुलिस ने पत्रकारो सब सिखाने का लगता है नया नवाचार लांच किया है। इसी नवाचार का पहला प्रयोग सारणी में तब देखने को मिला जब एक पत्रकार पर कुछ अपराधी प्रवृति के लोगो ने तलवार से हमला करके पत्रकार के हाथो को काटने का काम किया।

सारनी – पाथाखेड़ा के पत्रकार दीपेश दुबे ने अपने समाचार पत्रो में सारनी पुलिस थाना में 6 माह पहले आए एक सिपाही हीरालाल द्वारा क्षेत्र में चल रहे जुआ – सटट – अवैध शराब – कबाड़ा के कारोबार से जुड़े लोगो से की जा रही अनैतिक वसूली का समाचार छापा तो सारनी थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान के बेहद करीबी बताए जाने वाले हीरो – हीरालाल ने पत्रकार दीपेश दुबे पर प्राण घातक हमला करवा डाला। पुलिस थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने अपने कमाऊपूत हीरो हीरालाल के कहने पर उन लोगो के खिलाफ 307 का मुकदमा दर्ज नहीं किया है जबकि घायल पत्रकार को मध्यप्रदेश से बाहर नागपुर रिफर किया जा चुका है।

जिंदगी और मौत से जंग लडने वाले पत्रकार के प्रति सारणी पुलिस के नकारात्मक रवैये और पत्रकार पर हमला करने वाले एवं हमले की साजीश रचने वाले सिपाही के विरूद्ध अपराधिक मामला दर्ज न करने की स्थिति में पाथाखेड़ा के वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद गुप्ता जहां एक ओर सारनी में शापिंग सेंटर के पास अमरण अनशन करने की चेतावनी दे चुके है वही दुसरी ओर बैतूल जिले के पत्रकार श्री दुबे पर हुए हमले एवं पत्रकारो के खिलाफ बैतूल जिले की पुलिस द्वारा दर्ज अपराधिक मुकदमो के खिलाफ जिला मुख्यालय पर अनिश्चीत कालीन धरना देने जा रहे है।

जिले के पत्रकार जिला मुख्यालय पर 24 नवम्बर 2020 को बैतूल आ रहे पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी चर्चा करने के बाद प्रदेश भाजपा कोषाध्यक्ष से मिलने उनके घर जा रहे है। पत्रकारो ने स्पष्ट रूप से जिला प्रशासन को चेताया है कि जिले की पुलिस पत्रकारो की आवाज को दबाने का काम बंद करे वरणा परिणाम घातक हो सकते है। पत्रकारो ने जिला पुलिस अधीक्षिका को याद दिलाया है कि जिले के पत्रकार पूर्व में पूर्व कलैक्टर बी. चन्द्रशेखर के खिलाफ एक पखवाड़े से अधिक समय का धरना – प्रदर्शन कर अपनी ताकत को दिखा चुके है।

सारणी के वरिष्ठ पत्रकार प्रमोद गुप्ता ने बैतूल जिले के पत्रकार संगठनो एवं पत्रकारो से पत्रकारो के हक की लड़ाई में पुलिस – प्रशासन का साथ न देकर पत्रकारो के मान – सम्मान की लड़ाई में खड़े रहने का आग्रह किया है। जिला भााजपा मंत्री एवं दैनिक राज एक्सप्रेस के ब्यूरो रंजीत सिंह, पत्रकार विशाल बतरा ने भी पत्रकारो की सुरक्षा की मांग करते हुए पत्रकार पर प्राण घातक हमला करने वाले हमलावरो के खिलाफ 307 का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!