सुदामापुरी निवासी लंबे समय से झेल रहे जलभराब और गन्दगी का दंश

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ सबलगढ, जिला मुरैना // अनूप सिंह राजपूत : 8959955332

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

सबलगढ़/सबलगढ़ सुदामापुरी के स्थानीय रहवासी लगभग 50 घर की आबादी कई वर्षों से नरकीय जीवन व्यतीत कर रहे हैं,कई बार सीएमओ,एस डीएम को आवेदन दे चुके हैं,लेकिन आज दिनांक तक समस्या का निराकरण नहीं किया गया है,नगरपालिका में कई सीएमओ बदले कई एसडीएम बदले लेकिन समस्या नहीं बदली

नगरपालिका की बात करें तो अनिमितताओं और भृस्टाचार कि लम्बी फेहरिस्त बन जाएगी, नगरपालिका सबलगढ़ की हालत पर लोगों के मुंह से नगरपालिका को नरकपालिका भी सुनते देखा गया है,सुदामापुरी में जलभराब की मुख्य वजह सब्जी मंडी बस स्टैंड की तरफ से आने वाले नाले को पिपरघान रोड़ के नाले से नहीं जोड़ा गया है,ना ही सुदामापुरी बस्ती में नपा द्वारा सीसी कराई है ना ही नाली निर्माण कराया गया है उक्त बस्ती में रहने वाले रहवासियों को प्रतिदिन गन्दे पानी व कीचड़ में होकर निकलना पड़ता है ,लेकिन इस समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया, अगर किसी गर्भवती महिला को हॉस्पिटल लेजाना पड़े तो किस तरह की स्थिति उत्तपन्न होगी ये कहा नहीं जा सकता।

मंत्री,कलेक्टर,एसडीएम भी नहीं कर पाए समस्या का निराकरण

ज्ञात हो कि सुदामापुरी की ये गम्भीर समस्या किसी से छुपी नहीं है,6 दिसम्बर 2019 को तत्कालीन प्रभारी मंत्री लाखन सिंह यादव,कलेक्टर प्रिंयका दास, अनुविभागीय अधिकारी सबलगढ़ अंकिता धाकरे सिविल हॉस्पिटल का उद्घाटन करके लौटते वक्त सुदामापुरी वासियों ने सभी का काफिला रोका और अपनी गली की समस्या मौके पर ले जाकर दिखाई लेकिन उन्होंने मात्र आस्वासन देकर ही खानापूर्ति कर दी लेकिन आज दिनांक तक समस्या जस की तस बनी हुई है,गौर करने वाली बात यह है कि वर्तमान में नगरपालिका सबलगढ़ में प्रशासक आईएएस अंकिता धाकरे हैं लेकिन शहर की जन समस्याओं की ओर उनका भी ध्यान नहीं है,स्थानीय लोगों में आक्रोश है और नगरपालिका को मन ही मन कोस रहे हैं,रविवार को वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में सीएमओ विजयबहादुर सिंह द्वारा नाले के पानी को निकालने का प्रयास किया गया है, लेकिन स्थाई समाधान अति आवश्यक है


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!