बालाघाट जिले में 123 केन्द्रों पर किसानों से धान की खरीदी हुई प्रारंभ

Spread the love

 ANI  NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

ब्यूरो चीफ बालाघाट // वीरेंद्र श्रीवास 83196 08778

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाने एवं उन्हें बिचौलियों व दलालों के शोषण से बचाने के लिए शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर धान के उपार्जन का इंतजाम किया गया है। बालाघाट जिले में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए कुल 186 केन्द्र बनाये गये है। चालू सीजन में जिले के 123 खरीदी केन्द्रों पर धान की खरीदी प्रारंभ हो गई है और 01 दिसंबर 2020 तक 1190 किसानों से 21 हजार 358 क्विंटल धान की खरीदी की जा चुकी है। 

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित, बालाघाट के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.के शुक्ला ने बताया कि जिले में 16 नवंबर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी प्रारंभ कर दी गई है। आज 01 दिसंबर तक जिले में 123 खरीदी केन्द्रों पर 1190 किसानों से 21 हजार 358 क्विंटल धान की खरीदी की जा चुकी है। किसानों से खरीदी गई धान का परिवहन भी प्रारंभ कर दिया गया है और उसे गोदामों में पहुंचाया जा रहा है। जिले के सभी 186 उपार्जन केन्द्रों पर धान की खरीदी के लिए बारदाना एवं अन्य व्यवस्थाएं की गई है ।

किसानों को एसएमएस के माध्यम से सूचना दी जा रही हैं कि वे निर्धारित अवधि में उपार्जन केन्द्र पर धान का विक्रय करने लायें। किसानों से अपील की गई है कि शासन के निर्देशों के अनुसार प्रथम बार एसएमएस प्राप्त होने के पश्चात धान विक्रय नहीं करने पर पुनः एसएमएस प्राप्त होने की प्रतिक्षा करनी होगी तथा एसएमएस प्राप्त होने के पश्चात 7 दिवस के भीतर धान उपार्जन केन्द्र पर विक्रय हेतु लाना अनिवार्य है।

इस वर्ष जिले में लगभग 04 लाख 88 हजार मेट्रिक टन धान के समर्थन मूल्य पर उपार्जन का लक्ष्य रखा गया है। गत वर्ष जिले में धान खरीदी के लिए 167 केन्द्र बनाये गये थे और 04 लाख मेट्रिक टन धान का उपार्जन किया गया था। गत वर्ष जिले के एक लाख 16 हजार 88 किसानों का पंजीयन किया गया था और उसमें से 89 हजार 434 किसानों से समर्थन मूल्य पर धान का उपार्जन किया गया था। समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिए इस वर्ष जिले के एक लाख 18 हजार 404 किसानों का पंजीयन किया गया है। चालू सीजन में किसानों से 1868 रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान की खरीदी की जायेगी। किसानों को सलाह दी गई है कि वे धान को अच्छी तरह से सुखाकर और छानकर ही बिक्री के लिए लेकर आये। धान में नमी नहीं होना चाहिए।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!