जनसुनवाई में लोगों की समस्याओं का हुआ निराकरण, जनसुनवाई में आये 210 आवेदन

Spread the love

ANI NEWS INDIA @ www.aninewsindia.com

व्यूरो चीफ गाडरवारा // अरूण श्रीवास्तव : 8120754889

नरसिंहपुर, 03 जुलाई 2018. कलेक्ट्रेट में मंगलवार 03 जुलाई को हुई जनसुनवाई में जिले के विभिन्न क्षेत्रों से लोग अपनी- अपनी समस्या, शिकायत, कठिनाई के निराकरण के लिए पहुंचे। कलेक्टर अभय वर्मा ने जनसुनवाई में पहुंचे आम लोगों की समस्याओं को ध्यान पूर्वक सुनकर उनकी समस्याओं का निराकरण किया। उन्होंने आवेदकों की समस्याओं का निराकरण नियत समय सीमा में तत्परता से करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। जनसुनवाई में कुल 210 आवेदन आये।
जनसुनवाई में विशेष रूप से प्रधानमंत्री आवास योजना, आवासीय पट्टा, बीपीएल कार्ड, भूमि आदि से संबंधित मामले आये। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आरपी अहिरवार ने भी लोगों की समस्यायें सुनी। उन्होंने अधिकारियों को आवेदकों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए आवश्यक निर्देश दिये। जनसुनवाई में डिप्टी कलेक्टर वंदना जाट, जिला कोषालय अधिकारी प्रशांत कुमार गोटिया, जिला शिक्षा अधिकारी जेके मेहर, जिला संयोजक जनजातीय कार्य रेखा पांचाल, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी अरूण प्रताप सिंह निरंजन और अन्य अधिकारी मौजूद थे।
जनसुनवाई में करेली तहसील के ग्राम इमलिया की गरीब महिला विद्या बाई वंशकार ने बताया कि उनके पति होतीलाल की मृत्यु हो गई है, उनके छोटे- छोटे बच्चे हैं। उन्हें आर्थिक सहायता दिलाई जाये। इस पर सीईओ जनपद करेली को प्रकरण का परीक्षण कर पेंशन एवं राष्ट्रीय परिवार सहायता का लाभ दिलाने के निर्देश दिये गये। कुकलाह की आशा बाई दुबे के इलाज के लिए आर्थिक सहायता दिलाने के मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को राज्य बीमारी सहायता योजना के अंतर्गत आवश्यक कार्रवाई के लिए कहा गया। बेलखेड़ी शेढ़ में फलदार वृक्षों के लिए पौधरोपण करने की अनुमति के लिए औंकार सिंह बैसाखू चौधरी ने आवेदन दिया, इस मामले में सीईओ जनपद गोटेगांव को आवश्यक निर्देश दिये गये। सुआतला के सतीश हरिराम नामदेव ने ग्राम पंचायत सुआतला द्वारा कार्यों में अनियमितता कर राशि हड़पने की शिकायत की। इस मामले में सीईओ जनपद करेली को आवश्यक कार्रवाई के निर्देश दिये गये।
जनसुनवाई में बारूरेवा के 56 वर्षीय राजाराम नन्हेंलाल कतिया ने आवेदन देकर बताया कि मैं मजदूरी करके अपना भरण पोषण करता हंू। मेरे साथ मेरी पत्नी खित्ता बाई रहती हैं, उन्हें सांस की बीमारी है। मेरा पुत्र पवन कुमार शासकीय प्राथमिक शाला छीतापार में शिक्षक है, जो परिवार के भरण पोषण में और इलाज में कोई मदद नहीं करता। मुझे मेरे पुत्र से भरण पोषण के लिए सहायता दिलाई जाये। इस पर एसडीएम नरसिंहपुर को वृद्धजन भरण- पोषण अधिनियम के तहत कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिये गये और कहा गया कि राजाराम के शिक्षक पुत्र को समक्ष में भी बुलवायें। गाडरवारा की राधा जाटव, नरेश जाटव, महेश जाटव व भारती जाटव ने अपनी मां की मृत्यु हो जाने पर विधिक उत्तराधिकारी प्रमाण पत्र जारी करने के लिए आवेदन दिया। जिस पर जिला विधिक सहायता अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिये गये। खापा- डुडवारा की सुमत्रा साहू ने अपने पति अनिल कुमार की मृत्यु पर अंत्येष्टि सहायता व परिवार सहायता दिलाने के लिए आवेदन दिया। इस मामले में सीईओ जनपद को आवश्यक निर्देश दिये गये।
जनसुनवाई में करेली के पूरन लाल मेहरा ने पट्टे में नाम सुधरवाने, निवारी की रजनी अजय कुमार ब्रााम्हण ने खेत की मेढ़ व नहर तोड़ने, गाडरवारा के हरभजन धन्नू लाल ने पट्टा बनवाने, मारेगांव के रामफल वंशीलाल लोधी ने अपने चार मवेशियों की अचानक मृत्यु हो जाने पर मुआवजा दिलाने, चीचली के पुन्नू गब्दू ने पट्टा वाली भूमि पर बनी टपरिया तोड़कर किये कब्जे को हटवाने, खमरिया की गुड्डी बाई गूजर ने भूमि पर कब्जा दिलाने, बनवारी के राजेन्द्र काछी ने पैमाइश कराकर भूमि का कब्जा दिलाने, कोठिया- मऊ के मुरारीलाल पिपरोनिया ने अपने भतीजे की कृषि कार्य करते समय बिजली करंट लगने से हुई मृत्यु पर आर्थिक सहायता दिलाने, सांकल के ग्रामवासियों ने जीआरएस अरूण महोबिया द्वारा पंचायत में गड़बड़ी करने, बहोरीपार खुर्द की जानकी डालचंद सिलावट ने ग्राम पंचायत नवलगांव के सरपंच, सचिव, जीआरएस द्वारा गड़बड़ी करने आदि से संबंधित अपने- अपने आवेदन दिये। अन्य आवेदको ने भी अपनी कठिनाईयों से संबंधित आवेदन प्रस्तुत किये। इन आवेदनों पर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक कार्रवाई के लिये कहा गया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *